Connect with us

Hi, what are you looking for?

दिल्ली

Lockdown in Delhi: दिल्ली में एक बार फिर 2020 जैसी स्थिति, भारी संख्या में बस अड्डों पर प्रवासी मजदूरों का सैलाब

Lockdown In Delhi: जैसे ही ये खबर दिल्ली में काम कर रहे प्रवासी मजदूरों तक पहुंची वैसे ही अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया है। एका-एक बस अड्डे और रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों की भीड़ बढ़ने लगी है। ये वो यात्री थे, जो दिल्ली में काम करते थे।

खबर शेयर करें

Lockdown in Delhi: केजरीवाल सरकार [CM Arvind Kejriwal ] और एलजी के बीच हुई लंबी मीटिंग के बाद आखिरकार राजधानी दिल्ली में एक सप्ताह का लॉकडाउन लगा दिया गया है। जैसे ही ये खबर दिल्ली में काम कर रहे प्रवासी मजदूरों तक पहुंची वैसे ही अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया है। एका-एक बस अड्डे और रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों की भीड़ बढ़ने लगी है। ये वो यात्री थे, जो दिल्ली में काम करते थे।

फिर नजर आई 2020 जैसी स्थिति

आनंद विहार, कौशांबी बस अड्डे से यूपी और बिहार के दूर-दराज शहरों के प्रवासी मजदूर अपने घरों की ओर पलायन करने लगे हैं. जिसके चलते यहां एक बार फिर से 2020 जैसी भीड़ उमड़ पड़ी है जब मार्च में लॉकडाउन के ऐलान के बाद एक बार में आनंद विहार रेलवे स्टेशन पर हजारों लोग की भीड़ लग गई थी.

विज्ञापन

सोमवार को दिन भर आनंद विहार स्टेशन पर ऐसा ही दृश्य देखने को मिला. यहां से मजदूर लगातार अपने घरों की ओर जा रहे हैं और इंतजार कर रहे हैं कि किसी बस के जरिए उन्हें अपने गंतव्य तक पहुंचने को मिल जाए. इसके चलते आनंद विहार और कौशांबी बस अड्डे पर भीड़ बढ़ती जा रही है. 

हालांकि सीएम अरविंद केजरीवाल [ CM Arvind Kejriwal] ने कहा है कि कोई भी प्रवासी दिल्ली छोड़कर न जाए। लेकिन अब लॉकडाउन होने की वजह से एक सप्ताह तक प्रवासी मजदूरों के पास करने के लिए कुछ काम नहीं होगा, साथ ही घर से भी बाहर नहीं निकलना होगा इसलिए ऐसे में लोग अपना सामान समेटकर बसों के माध्यम से अपने घर जाना ही बेहतर समझ रहे है। लोगों को ये भी आशंका है कि सरकार पिछले साल की तरह लंबा लॉकडाउन भी लगा सकती है। ऐसे में पैदल लंबी दूरी तय करने से अच्छा है समय से बसों और ट्रेन से अपने घर पहुंचा जाए।

आनंद विहार बस अड्डे पर भारी भीड़

आनंद विहार आइएसबीटी [Anand Vihar ISBT] और कौशांबी बस अड्डे पर प्रवासी मजदूरों की भारी भीड़ देखने को मिल रही है। रेलवे स्टेशनों पर लोग पहुंचना शुरू हो गए हैं। हालांकि स्टेशन पर इन दिनों कन्फर्म टिकट वालों को ही प्रवेश दिया जा रहा है। इस वजह से रेलवे स्टेशनों की ओर अधिक यात्री नहीं जा रहे हैं। बिहार के रहने वाले सुनील का कहना है कि वह दिल्ली में नौकरी करते हैं और अभी लॉकडाउन लग गया है इसलिए घर वापस आना बेहतर है।

दिल्ली के ये बाजार हैं बंद 

जागरण के अनुसार दिल्ली में चांदनी चौक मुख्य मार्ग, सदर बाजार, चावड़ी बाजार, भागीरथ पैलेस, ओल्ड लाजपत राय बाजार, न्यू लाजपत राय बाजार, दरीबा, किनारी बाजार, नई सड़क, खारी बावली, केमिकल बाजार, फोटो बाजार , साइकिल बाजार, मोरी गेट, अशोक विहार, करोलबाग की विभिन्न बाजार, गांधी नगर, शांति मोहल्ला बाजार, पूर्वी दिल्ली की अनेक बाजार, कंप्यूटर बाजार, रबर प्लास्टिक बाजार आदि पूरी तरह से बंद रहेंगे।

ये भी पढ़ें- राजस्थान में 3 मई तक Lockdown का ऐलान‚ जानिए क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद…

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, दिल्ली में अब तक कुल आठ लाख 53 हजार 460 मामले आ चुके हैं। जिसमें से सात लाख 66 हजार 398 मरीज ठीक भी हो चुके हैं। इससे मरीजों के ठीक होने की दर 90.12 फीसद से घटकर 89.79 फीसद हो गई है। मृतकों की संख्या 12,121 हो गई है। फिर भी मृत्यु दर 1.47 फीसद से घटकर 1.42 फीसद पर आ गई है। मौजूदा समय में 74,941 सक्रिय मरीज हैं। जिसमें से 13,887 मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं। वहीं, कोविड केयर सेंटर में 558 व कोविड हेल्थ सेंटर में 96 मरीज भर्ती हैं। इसके अलावा होम आइसोलेशन में रहकर इलाज कराने वाले मरीजों की संख्या 34,398 हो गई है।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement