Connect with us

Hi, what are you looking for?

दुनिया

अमेरिका की तरह क्या भारत में भी दोनों टीके लगावाने वालों को नही मास्क की जरूरतॽ

Masks are mandatory in India- भारतीय लोगों के मन विचार उठ रहे हैं कि यहां भी दोनों डोज लेने वाले लोग अपना मास्क हटा सकते हैं। इस पर गुलेरिया ने कहा है कि भारत में इस तरह की घोषणा करना जल्दबाजी होगी।

खबर शेयर करें

Masks are mandatory in India/ नई दिल्ली: अमेरिका में कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक लेने वालों ने अपने मास्क उतार दिए हैं. रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के बाद संयुक्त राज्य अमेरिका [United States of america] ने राहत की सांस ली है। लेकिन भारत के मौजूदा हालात अमेरिका जैसे नहीं हैं। इसलिए भारत में अगर दोनों डोज ली भी जाएं तो भी मास्क पहनना जरूरी है। ये कहना है एम्स निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया का।

डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि कोरोना टीके की दोनों खुराक लेने के बाद भी भारत में मास्क पहनना और सामाजिक दूरी का पालन करना महत्वपूर्ण है। कोरोना की दूसरी लहर में वायरस का एक नया रूप सामने आ रहा है। इससे मायोकार्डियल इंफार्क्शन का खतरा भी बढ़ रहा है। इसलिए भारत में वैसा न करें अमेरिका ने किया है।

हालांकि भारत में टीकाकरण ने गति पकड़ ली है, फिर भी यह स्पष्ट नहीं है कि कोरोना के नए स्ट्रेन से टीका कितनी सुरक्षा प्रदान करता है।

जो बाइडेन ने उतार दिया था मास्क

आपको बता दे कि शुक्रवार को यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने कहा था कि दो टीकों के बाद अब मास्क की जरूरत नहीं है। इसके बाद में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने भी अपना मास्क उतार दिया था। संयुक्त राज्य अमेरिका में कोरोना पर नए नियम लागू होने के बाद, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने व्हाइट हाउस के एक कार्यक्रम में अपने मास्क उतार दिए थे।

ये भी पढ़ें- New Delhi: पीएम केयर फंड के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर

संयुक्त राज्य अमेरिका में टीकाकरण के कारण कोरोना की स्थिति नियंत्रण में है। इसके अलावा, अमेरिकन फेडरेशन ऑफ टीचर्स लेबर यूनियंस ने निकट भविष्य में स्कूलों को शुरू करने की सिफारिश की है। अमेरिका में दुनिया में कोरोना के रोगियों और कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या सबसे अधिक है। हालांकि, पिछले कुछ दिनों से यहां मरीजों की संख्या में भारी गिरावट देखने को मिली है।

भारत में ऐसी घोषणा जल्दबाजी होगी
इस बीच भारतीय लोगों के मन विचार उठ रहे हैं कि यहां भी दोनों डोज लेने वाले लोग अपना मास्क हटा सकते हैं। इस पर गुलेरिया ने कहा है कि भारत में इस तरह की घोषणा करना जल्दबाजी होगी। गुलेरिया ने कहा, “जब तक हमें पूर्ण नियंत्रण नहीं मिल जाता, हमें कोरोना नियमों का पालन करना है।” वायरस लगातार अपना रूप बदल रहा है। इसलिए फिलहाल हम यह नहीं कह सकते कि वैक्सीन इस वायरस के खिलाफ कितनी कारगर होगी।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: