Connect with us

Hi, what are you looking for?

देश

kisan andolan के हुए चार महीने पूरे, तो कल होगा Bharat Bandh, सुबह 6 से शाम 6 बजे तक सब रहेगा Close.

Kisan Andolan News:- New Delhi. केंद्र (center) द्वारा बीते साल पारित किये गये तीन कृषि कानूनों (Agricultural laws) के विरोध में धरनारत किसान यूनियनों के एक मोर्चे संयुक्ता किसान मोर्चा (SKM) ने देश के नागरिकों (citizens) से 26 मार्च के भारत बंद (Bharat Bandh) को पूरी तरह सफल बनाने की अपील की गई है। आपको बता दे कि किसान लगभग चार महीने से केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। समाचार एजेंसी पीटीआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक, एसकेएम ने 26 मार्च को सुबह 6 से शाम 6 बजे तक भारत बंद का आह्वान किया गया है। इस दौरान पूरे देश में सभी सड़क और रेल परिवहन, बाजार और अन्य सार्वजनिक स्थान बंद रहेंगे।

यह भी पढ़ें:- ग्रीन हीरो: बंजर हो चुका था पूरा पहाड़, 24 साल में 11 हज़ार पेड़ लगाए, नदियों को कर दिया ज़िंदा

इापको बता दे कि किसान नेता दर्शन पाल ने कहा है, हम देश के लोगों से इस भारत बंद को सफल बनाने और उनकी अन्नदता का सम्मान करने की अपील करते हैं. हजारों किसान दिल्ली सीमा स्थित सिंघू, टिकरी और गाजीपुर में डेरा डाले हुए हैं। चार महीने से अधिक समय से कृषि कानूनों को रद्द करने और उनकी फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य कानूनी गारंटी की मांग कि है।

यह भी पढ़ें:- रेनुका पवार का एक और Dj धमाका Song परांदा हुआ रिलीज

हम 26 मार्च को पूर्ण भारत बंद रखेंगे- बूटा सिंह

आपको बता दे कि इससे पहले भी किसान नेता बूटा सिंह बुर्जगिल द्वारा कहा था कि कानूनों के खिलाफ हमारा विरोध चार महीने पूरे होने पर हम 26 मार्च को पूर्ण भारत बंद रखेंगे। शांतिपूर्ण बंद सुबह से शाम तक प्रभावी रहेगा.। किसान नेताओं ने यह भी कहा कि 28 मार्च को होलिका दहन के दौरान कृषि कानूनों की प्रतियां जलाई जाएंगी। आंध्र प्रदेश में सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) ने 26 मार्च को भारत बंद को समर्थन दिया है. दोपहर 1.00 बजे के बाद राज्य के सभी सरकारी संस्थान खुले रहेंगे और दोपहर में आरटीसी बसें चलेंगी. बंद के दौरान सभी आपातकालीन स्वास्थ्य सेवाएं चलती रहेंगी।

यह भी पढ़ें:- बॉलीवुड वालों ने ही मेरा करियर बर्बाद करने की कोशिश की: गोविंदा

वहीं व्यापारी इस भारत बंद में शामिल होंगे या नहीं, यह उन पर निर्भर है। लेकिन महानगर व्यापर मंडल के महासचिव अशोक चावला ने बताया कि भारत बंद के दौरान संघ तटस्थ रहेगा। चावला ने कहा कि कोई भी एसोसिएशन किसी को भी अपनी दुकानें बंद करने या उसे खुले में रखने के लिए मजबूर नहीं करेगा। व्यापारी अपने फैसले लेने के लिए स्वतंत्र हैं।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement