Joshimath Crisis: हालातो का जायजा लेने जोशीमठ पहुंचे सीएम धामी, नरसिंह मंदिर में की पूजा अर्चना

जोशीमठ: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जोशीमठ में भू-धंसाव के संकट से घिरे प्रभावित परिवारों को आश्वस्त करने के लिए दूसरी बार ग्राउंड जीरो पर पहुंचे हैं। गुरुवार सुबह सीएम धामी नरसिंह मंदिर पहुंचे और यहां पूजा की। वहीं बुधवार को जोशीमठ रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री ने राहत मरहम का एलान किया। उन्होंने कहा कि आपदा राहत मानकों से बाहर जाकर उन्होंने बाजार दर से नुकसान की भरपाई करने की घोषणा की है।

दरअसल, आपको बता दें कि भू-धंसाव के संकट का सामना कर रहे जोशीमठ में आदि गुरु शंकराचार्य की गद्दी स्थित नृसिंह मंदिर परिसर में दरारें आ गई। बदरीनाथ धाम के कपाट बंद होने के बाद शंकराचार्य की गद्दी नृसिंह मंदिर में विराजमान रहती है। सीएम धामी आज सभी कार्यक्रमों को स्थगित कर जोशीमठ पहुंचे और यहां के हालातों का जायजा लिया। 

इस दौरान मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि मैं यह एक-एक पल की रिपोर्ट लेने आया हूं। मेरी पहली चिंता आज सिर्फ जोशीमठ है।भू-धंसाव से प्रभावित प्रत्येक परिवार को राहत देना सरकार का पहला लक्ष्य है। सभी भवनों को तोड़ना सरकार का लक्ष्य नहीं है। उन्होंने कहा सरकार ने प्रभावितों के पुनर्वास व मुआवजे के लिए कमेटी बना दी है। सीएम ने दूसरी बार ग्राउंड जीरो पर उतर कर प्रभावितों के बीच जाकर यह संदेश का प्रयास किया कि कठिन समय में सरकार साथ खड़ी है।