Connect with us

Hi, what are you looking for?

Health/Lifestyle

Insurance news hindi: कोराेना काल में मरीजों से ज्यादा वसूली करने वाले अस्पतालों का IRDA ने मांगा बीमा कंपनियों से ब्याेरा

इस पर बीमा नियामक [ Insurance regulator] आयोग IRDA ने बीमा कंपनियों [Insurance companies] से ऐसे सभी अस्पतालों का ब्यूरो मांगा है। जो मरीजों के साथ इस तरह का व्यवाहर कर रहे हैं। बीमा नियामक ने बीमा कंपनियों [Insurance companies] को निर्देश दिया है कि वो जल्द से जल्द उन अस्पतालों की सूची सौंपे जो नियमों का उलंघन कर मुनाफा कमा रहे हैं।

इरडा ने कोराेना मरीजों से इलाज के एवज में ज्यादा चार्ज वसूलने की घटनाए सामने आने के बाद बीमा कंपनियों [Insurance companies] के लिए गाइलाइन जारी किया है। इसके साथ ही बीमा नियामक [ Insurance regulatory ] बीमा कंपनियों [Insurance companies] को निर्देशित किया है कि वो इलाज कराने के बाद रीइंबर्समेंट क्लेम करने वाले बीमाधारकों के मामलों को जल्द निपटाए। इरडा [IRDA] ने बीमा कंपनियों को इसके लिए टीपीए को सही सलाह देने का भी निर्देश दिया गया है।

खबर शेयर करें

Insurance news hindi: कोरोना काल [Corona era] में कुछ अस्पतालों ने अपनी कमाई बढ़ाने के लिए गैरकानूनी तरीके अपनाने शुरू कर दिए हैं। ये अस्पताल बीमा पॉलिशी [ Insurance polish ] होल्डर कोरोना मरीजों से खुलकर वसूली कर रहे हैं और मोटा बिल बना रहे हैं। वही ऐसी भी शिकायत सामने आ रही हैं कि कई अस्पताल कैशलेस इलाज मुहैया नहीं करा रहे हैं।

इस पर बीमा नियामक [ Insurance regulator] आयोग IRDA ने बीमा कंपनियों [Insurance companies] से ऐसे सभी अस्पतालों का ब्यूरो मांगा है। जो मरीजों के साथ इस तरह का व्यवाहर कर रहे हैं। बीमा नियामक ने बीमा कंपनियों [Insurance companies] को निर्देश दिया है कि वो जल्द से जल्द उन अस्पतालों की सूची सौंपे जो नियमों का उलंघन कर मुनाफा कमा रहे हैं।

इरडा ने कोराेना मरीजों से इलाज के एवज में ज्यादा चार्ज वसूलने की घटनाए सामने आने के बाद बीमा कंपनियों [Insurance companies] के लिए गाइलाइन जारी किया है। इसके साथ ही बीमा नियामक [ Insurance regulatory ] बीमा कंपनियों [Insurance companies] को निर्देशित किया है कि वो इलाज कराने के बाद रीइंबर्समेंट क्लेम करने वाले बीमाधारकों के मामलों को जल्द निपटाए। इरडा [IRDA] ने बीमा कंपनियों को इसके लिए टीपीए को सही सलाह देने का भी निर्देश दिया गया है।

इरडा बीमा कंपनियों को ये भी निर्देश दिया है कि वो बीमाधारकों की जरूरी जानकारी मुहैया कराने के लिए प्रभावी कम्यूनिकेशन चैनल मुहैया कराए। आयोग का कहना है कि कोरोना संकट के बीच बीमधारकों द्वारा जरूरी जानकारी पाने के लिए पूछताछ बढ़ी है।

वित्त मंत्री ने जताई थी नाराजगी

मरीजों को कैशलेस सुविधा नहीं मुहैया कराने पर वित्त मंत्री ने इरडा के चेयरमैन एससी खुंटिया से नराजगी जातते हुए कहा था कि बीमा कंपनियों द्वारा कैशलेस दावे खारिज किए जाने की शिकायतों पर तत्काल कार्रवाई करें।

ऐसे वसूली कर रहे हैं अस्पताल

बीमाधारकों ने शिकायत की है कि अस्प्ताल मरीजों से अलग-अलग चार्ज वसूल रहे हैं। जो कोरोना मरीज डर से अस्पतालों में भर्ती हो रहे हैं उनसे अस्पताल मोटी वसूली कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि एक ही कमरे में कई-कई मरीजों को सिफ्ट करके सिंगल ऑक्यूपेंसी रूम का चार्ज वसूला जा रहा हैं। जिससे एवरेज क्लेम राशि करीब 1.50 लाख रुपये से ऊपर तक पहुंच रही है। वही इससे पहले यह राशि 1.30 लाख रुपये थी।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement