Connect with us

Hi, what are you looking for?

देश

नौसेना के बेड़े में शामिल हो रहा INS वेला, इस विध्वंसक पनडुब्बी के बारे में जानिए

देश की चौथी स्कॉर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी INS वेला को दो साल से अधिक के परीक्षण के बाद 25 नवंबर को चालू किया जा रहा है। भारत ने पहली बार मई 2019 में इसका परीक्षण किया था।

खबर शेयर करें
INS Vela

भारतीय नौसेना(Indian Navy) ने ट्वीट(tweet) कर जानकारी दी है कि 25 नवंबर को INS वेला भारतीय नौसेना के बेड़े में शामिल हो जाएगा। नौसेना ने इसे आत्मनिर्भर भारत की मिसाल(self-reliant India) बताया है। इसे मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (Mazagon Dock Shipbuilders Limited) ने बनाया है। वेला स्कॉर्पीन डिजाइन(Scorpene design) की छह पनडुब्बियों(submarines) में से एक है, जिसे मुंबई(Mumbai) में एमडीएल(MDL) द्वारा फ्रांसीसी फर्म नेवल ग्रुप से प्रौद्योगिकी ट्रांसफर(technology transfer from French firm Naval Group) के साथ बनाया जा रहा है। आइए इस अत्याधुनिक INS के बारे में विस्तार से जानते हैं।

देश की चौथी स्कॉर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी INS वेला को दो साल से अधिक के परीक्षण के बाद 25 नवंबर को चालू किया जा रहा है। भारत ने पहली बार मई 2019 में इसका परीक्षण किया था। आईएनएस वेला दुश्मन से मुकाबला करने के लिए अपनी उन्नत स्टील्थ और लड़ाकू क्षमताओं के लिए जाना जाता है। इस डीजल-इलेक्ट्रिक पनडुब्बी को मुंबई में मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड द्वारा प्रोजेक्ट 75 के तहत बनाया गया है।

INS वेला की मुख्य विशेषताएं
स्कॉर्पीन श्रेणी की यह पनडुब्बी एंटी-सरफेस वॉर, एंटी-सबमरीन वॉर, इंटेलिजेंस इकट्ठा करने, माइन बिछाने, सर्विलांस जैसे कई मिशनों को अंजाम दे सकती है। इसे अल्ट्रामॉडर्न तकनीक का इस्तेमाल करके बनाया गया है। इसकी शीर्ष साइलेंसिंग तकनीक, कम विकिरणित शोर स्तर, हाइड्रो-डायनेमिक आकार, निर्देशित हथियारों का उपयोग करके दुश्मन पर हमला करना इसे खास बनाता है। इसका उपयोग पानी के भीतर या सतह पर एक ही समय में टॉरपीडो के साथ-साथ ट्यूब-लॉन्च एंटी-शिप मिसाइलों का उपयोग करके किया जा सकता है।

यह भी पढें-गरीबों के हक में मोदी सरकार का बड़ा फैसला, अब मार्च तक मिलेगा इस योजना का फायदा

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: