फोटो साभार सोशल मीडिया

उत्तर प्रदेश(Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ(Lucknow) में सब इंस्पेक्टर विनोद कुमार(Sub Inspector Vinod Kumar) को थप्पड़ मारने वालों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आशीष शुक्ला, प्रांजुल माथुर, प्रियांक माथुर, प्रवेंद्र(Ashish Shukla, Pranjul Mathur, Priyank Mathur, Pravendra) को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया. वहीं अब दूसरे पक्ष के लोगों का शिकायत पत्र भी सामने आया है. लोगों का कहना है कि पुलिसकर्मी नशे(policeman was drunk) में था और अपनी कार तेज रफ्तार में चला रहा था, जिसके चलते उसने दूसरी कार को टक्कर मार दी.

यह भी पढें-Height Of Corruption: उद्घाटन पर नारियल फोड़ते ही टूटी 1.16 करोड़ की लागत से बनी नई सड़क, फिर बीजेपी विधायक का यूं फूटा गुस्सा

लोगों का आरोप है कि पुलिस ने अभद्रता की है और विनोद कुमार ने कहा कि वह एक पुलिसकर्मी है और उसे कोई बिगाड़ नहीं सकता. लोगों का यह भी आरोप है कि उन्होंने पुलिस को लिखित शिकायत भी दी, लेकिन मामला दर्ज नहीं किया गया. जब उसने पुलिस वाले से कहा कि हमने तुम्हारा वीडियो बना लिया है तो वह उसे धमकाने और गालियां देने लगा. इसके बाद उन्होंने हाथापाई शुरू कर दी। उनकी कार में सवार कुछ राहगीर भी घायल हो गए। जिसे पुलिस ने छिपा दिया है, जिसके बाद हमने 112 पर कॉल किया। इंस्पेक्टर की कार से कुछ लोग घायल भी हुए।

पुलिस ने कहा- विनोद कुमार के साथ दबंगों ने की मारपीट
पुलिस का कहना है कि गुरुवार की रात इन डकैतों ने लखनऊ के हसनगंज थाना क्षेत्र के पीलीभीत से आए विनोद कुमार के साथ मारपीट की थी. राहगीरों ने इस घटना का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही हसनगंज निरीक्षक अशोक सरोज मौके पर पहुंचे।

इंस्पेक्टर को थप्पड़ मारने वाले गिरफ्तार
इस मामले पर एडीसीपी नॉर्थ प्राची सिंह ने बताया कि प्रियांक माथुर ने इंस्पेक्टर को थप्पड़ मारा था और उस दिन उनका रिसेप्शन था, वह दिल्ली में लॉ की प्रैक्टिस करते हैं. प्रांजुल पढ़ाई करता है और आशीष का ऑनलाइन बिजनेस है। आशीष शुक्ला, प्रांजुल माथुर, प्रियांक माथुर, प्रवेंद्र को गंभीर धाराओं में मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया गया है.

लड़के को बचाने के प्रयास में प्रियांक की कार से टकराई कार – पुलिस
पुलिस ने बताया कि एसआई विनोद कुमार पीलीभीत से आए थे और अपनी कार में अल्पसंख्यक आयोग के कागजात लेकर कहीं जा रहे थे. वहीं एक लड़के को बचाने के क्रम में उसकी कार प्रियांक की कार से टकरा गई और सभी ने कार से उतरकर एसआई पर हाथ उठा दिया. विनोद कुमार की तहरीर के आधार पर धारा 323, 504, 506, 395, 353 व 34 के तहत मामला दर्ज कर चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है.

आरोपित पक्ष ने इंस्पेक्टर पर लगाए गंभीर आरोप
आरोपी पक्ष का कहना है कि पुलिस मौके पर पहुंची और हमें न्याय का आश्वासन दिया। लेकिन थाने पहुंचने के बाद उसकी रिपोर्ट नहीं लिखी गई। इसके अलावा आरोपी पक्ष ने अपनी शिकायत में लिखा है कि उनका SUP 500 DL.2C AD 0223 बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। हम इस घटना का वीडियो सीएम योगी आदित्यनाथ जी को भेजेंगे। पुलिस अपने इंस्पेक्टर को बचाने की कोशिश कर रही है.

यह भी पढें-मथुरा के यमुना एक्सप्रेस वे पर भीषण हादसा, MP पुलिस के तीन जवान समेत 5 की मौत

Bharti Sharma

Bharti Sharma

Next Story