Connect with us

Hi, what are you looking for?

देश

योगी सरकार का बड़ा फैसला, अब महापुरुषों की जयंती और शिवरात्रि पर नहीं होगी मांस की बिक्री, आदेश जारी

शहरी विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉ. रजनीश दुबे ने जारी आदेश में कहा कि आज टीएल वासवानी की जयंती है. सभी नगरीय निकायों में स्थित बूचड़खानों के अलावा मांस की दुकानें भी बंद रहेंगी. सभी अधिकारियों को आदेश का कड़ाई से पालन करने के भी निर्देश दिए गए हैं.

खबर शेयर करें
(Yogi government)

लखनऊ: सूबे की योगी सरकार(Yogi government) ने एक और अहम फैसला लेते हुए महापुरुषों की जयंती और शिवरात्रि(occasion of birth anniversary of great men and Shivratri) के मौके पर बूचड़खानों और मीट की दुकानों(closure of slaughter houses and meat shops) को बंद रखने का आदेश दिया है. इसी क्रम में 25 नवंबर को सिंधी समाज के संत टीएल वासवानी की जयंती(birth anniversary of Saint TL Vaswani of Sindhi society) के अवसर पर राज्य भर के बूचड़खानों और मांस की दुकानों को बंद करने का आदेश दिया गया है. नगर विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव रजनीश दुबे(Additional Chief Secretary of Urban Development Department, Rajnish Dubey) ने इस संबंध में सभी जिलों के संभागीय आयुक्तों और जिलाधिकारियों(Divisional Commissioners and District Magistrates) को आदेश जारी करते हुए इसका कड़ाई से पालन कराने के निर्देश दिए हैं.

शहरी विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉ. रजनीश दुबे ने जारी आदेश में कहा कि आज टीएल वासवानी की जयंती है. सभी नगरीय निकायों में स्थित बूचड़खानों के अलावा मांस की दुकानें भी बंद रहेंगी. सभी अधिकारियों को आदेश का कड़ाई से पालन करने के भी निर्देश दिए गए हैं.

यह आदेश है
आदेश में कहा गया है कि महावीर जयंती, बुद्ध जयंती, गांधी जयंती, शिवरात्रि और साधु टीएल वासवानी की जयंती के अवसर पर नगरीय निकायों में स्थित बूचड़खानों के अलावा मांस की दुकानें बंद रखी जाएंगी. इसके पीछे तर्क यह रहा है कि अहिंसा का संदेश देने वाले महापुरुषों और त्योहारों को देखते हुए उनकी जयंती को अहिंसा दिवस के रूप में मनाने का निर्देश दिया गया है. गौरतलब है कि 2017 में सत्ता में आने के बाद ही योगी सरकार ने अवैध स्लोघेर हाउस पर नकेल कसी थी. साथ ही खुले में मीट की बिक्री पर भी रोक लगा दी गई है.

यह भी पढें-किसानों के ट्रैक्टर मार्च को लेकर पुलिस का रुख साफ- विरोध से नहीं आपत्ति, न बिगड़े कानून व्यवस्था

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: