Connect with us

हरियाणा

हरियाणा: रेवाड़ी में भयानक सड़क हादसा‚ 5 लोगों की मौत

Published

on

रेवाड़ी. हरियाणा के रेवाड़ी जिले में एक बड़ा सड़क हादसा हुआ. हादसे में 5 युवकों की मौत हो गई, जबकि दर्जनभर लोग लोग घायल हैं. सभी घायलों की अस्पताल में भर्ती कराया गया है. मरने वाले सभी युवक एक ही गाँव के रहने वाले थे.

रेवाड़ी में भयानक हादसा

जानकारी के मुताबिक, लाधूवास गाँव के रहने वाले सभी युवक ब्रेजा गाडी में सवार होकर दिल्ली से जयपुर की तरफ आ रहे थे. इस दौरान हरियाणा रोडवेज की बस जयपुर से दिल्ली की तरफ जा रही थी. इसी दौरान सलाहवास गाँव के पास ब्रेजा गाड़ी का संतुलन बिगड़ गया और ब्रेजा गाड़ी डिवाइडर से टकराकर दूसरी साइड आ गई और बस के सामने आकर भिड़ गई.

हादसा इतना भयंकर था की देखने वालों के भी होश उड़ गए. मरने वाले एक युवक की तो गर्दन ही धड से अलग हो गई. कार सवार पांचों युवकों ने कार के भीतर ही दम तोड़ दिया . मरने वालों में महेश , सचिन, सोनू , कपिल और नितेश सभी की उम्र 21 से 25 वर्ष के बीच थी. सभी रेवाड़ी जिले के गाँव लाधूवास के रहने वाले थे.

ये लोग हुए घायल

बस में सवार दर्जनभर यात्री घायल हो गए. जिन्हें ट्रोमा सेंटर में भर्ती कराया गया है. बस में सवार जिला अलवर निवासी गौरव कुमार, बिलासपुर के गांव पथरेड़ी निवासी सुमन, झज्जर निवासी लक्ष्मी, नांगल चौधरी निवासी सरोज, जिला सीकर के जुगलपुरा गांव निवासी राजेंद्र पवार, रेवाड़ी की गांव झाबुआ निवासी सोमदत्त, दिल्ली निवासी रामचंद्र, दिल्ली निवासी मनीष कुमार, दिल्ली के सुल्तान पुरी निवासी हजारीलाल, सीकर के गांव राजपुरा निवासी रामेश्वर व दिल्ली निवासी मांगेलाल शामिल है. फिलहाल, पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है. वहीं, पांच युवकों की मौत से गांव में कोहराम मच गया है.

देश

दिल्ली कूच पर अड़े किसान, हरियाणा के 7 जिलों में इंटरनेट बंद के बाद पंचकूला में धारा 144 लागू

Published

on

किसानों ने एक बार फिर अपनी मांगों को लेकर दिल्ली कूच करने का ऐलान किया है. इसे लेकर जहां हरियाणा की खट्टर सरकार ने राज्य के सात जिलों में इंटरनेट सेवाओं पर प्रतिबंध लगा दिया है, वहीं अब पंचकुला में धारा 144 लगा दी गई है. पंचकुला डीसीपी सुमेर सिंह प्रताप के मुताबिक, जुलूस, प्रदर्शन, पैदल या ट्रैक्टर ट्रॉली और अन्य वाहनों के साथ मार्च करने और किसी भी तरह की लाठी, रॉड या हथियार ले जाने पर प्रतिबंध लगाया गया है। बता दें कि किसान संगठनों के 13 फरवरी को दिल्ली कूच के ऐलान के बाद उन्हें राष्ट्रीय राजधानी की ओर जाने से रोकने के लिए पंजाब-हरियाणा सीमा इलाकों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

बॉर्डर सील करने के साथ ट्रैफिक एडवाइजरी जारी

पंजाब-हरियाणा सीमाएं आंशिक रूप से सील कर दी गई हैं। बैरिकेड्स, बोल्डर, रेत से भरे टिप्पर और कंटीले तार लगाकर सीमाएं बंद कर दी गई हैं। इसके साथ ही अर्धसैनिक बलों को भी तैनात किया गया है. इससे पहले शनिवार को हरियाणा के डीजीपी शत्रुजीत कपूर, पुलिस महानिरीक्षक (अंबाला रेंज) सिवास कविराज और अंबाला के पुलिस अधीक्षक जशनदीप सिंह ने किसानों के प्रस्तावित मार्च के मद्देनजर अंबाला के पास शंभू सीमा का दौरा किया। बॉर्डर सील करने के साथ ही ट्रैफिक एडवाइजरी भी जारी कर दी गई है. हरियाणा पुलिस ने पंजाब और हरियाणा के प्रमुख मार्गों पर संभावित यातायात व्यवधान की संभावना को देखते हुए यातायात सलाह जारी की है। इस दौरान यह भी कहा गया है कि 13 फरवरी को बेहद जरूरी होने पर ही यात्रा करें.

हरियाणा में हमें डराने की कोशिश की जा रही है।”

किसान नेता जगजीत सिंह दल्लेवाल ने हरियाणा सरकार की सख्ती पर बयान जारी कर कहा, ”एक तरफ सरकार हमें बातचीत के लिए बुला रही है, वहीं दूसरी तरफ हरियाणा में हमें डराने की कोशिश की जा रही है. सील किया जा रहा है।” धारा 144 लागू कर दी गई है. इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है. क्या सरकार को इंटरनेट सेवा बंद करने का अधिकार है? ऐसे में सकारात्मक माहौल में बातचीत नहीं हो सकती. सरकार को तुरंत इस ओर ध्यान देना चाहिए.

इंटरनेट और एक साथ कई एसएमएस भेजने पर रोक

आपको बता दें कि हरियाणा सरकार ने 13 फरवरी को किसानों के प्रस्तावित ‘दिल्ली चलो’ मार्च से पहले शनिवार को सात जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं और कई एसएमएस (संदेश) भेजने पर प्रतिबंध लगा दिया. एक आधिकारिक आदेश के अनुसार, 11 फरवरी को सुबह 6 बजे से 13 फरवरी को रात 11.30 बजे तक अंबाला, कुरूक्षेत्र, कैथल, जिंद, हिसार, फतेहाबाद और सिरसा जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित रहेंगी। संयुक्त किसान मोर्चा और किसान मजदूर मोर्चा ने ‘दिल्ली’ का आयोजन किया फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को लेकर कानून बनाने समेत विभिन्न मांगों को लेकर केंद्र सरकार पर दबाव बनाने के लिए 13 फरवरी को 200 से अधिक किसान संघों के समर्थन से ‘चलो’ मार्च निकाला जाएगा। की घोषणा की है।

क्या है किसानों की मांग?

एमएसपी के लिए कानूनी गारंटी, स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करना, कृषि ऋण माफी, किसानों के खिलाफ दर्ज मामले वापस लेना, लखीमपुर खीरी हिंसा के पीड़ितों के लिए न्याय किसानों की मुख्य मांगें हैं।

Continue Reading

दुनिया

उज्बेकिस्तान की लड़की के साथ रिजॉर्ट में रुका था दिल्ली का युवक, सुबह दोनों की मिली लाश

Published

on

हरियाणा के सोनीपत जिले में ‘मेरा गांव मेरा देश’ रिजॉर्ट में उज्बेकिस्तान की एक महिला और दिल्ली के एक युवक के अर्धनग्न शव मिलने से सनसनी फैल गई है। शव रिजॉर्ट के एक कमरे में पाए गए जहां दोनों ने रविवार रात को चेक-इन किया था। सोमवार सुबह रिसॉर्ट स्टाफ ने खिड़की से शव देखकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस अधिकारी ने कहा कि मौत का कारण पोस्टमार्टम के बाद पता चलेगा।

बाथरूम के बाहर पड़ा था युवक का शव

दिल्ली के अशोक विहार का रहने वाला हिमांशु अपनी विदेशी दोस्त उज्बेकिस्तान की नागरिक अब्दुलविया मखविल्या के साथ सोनीपत के कामी गांव स्थित ‘मेरा गांव मेरा देश’ रिजॉर्ट में रुकने आया था, लेकिन सुबह जब दोनों कमरे से बाहर नहीं आए तो रिजॉर्ट में काम करने वाले कर्मचारियों को शक हुआ जिसके बाद उन्होंने किसी तरह से कमरे के अंदर देखा तो दोनों मृत पड़े हुए थे। युवक का शव बाथरूम के बाहर पड़ा था, जबकि लड़की बिस्तर पर मिली थी। दोनों अर्धनग्न अवस्था में थे। मृत युवक की पहचान दिल्ली के अशोक विहार के रहने वाले 26 वर्षीय हिमांशु के रूप में हुई है, जबकि महिला की पहचान उज्बेकिस्तान की अब्दुलविया (32) के रूप में हुई।

घटनास्थल से पासपोर्ट बरामद

हिमांशु का परिवार अस्पताल पहुंच गया है, लेकिन कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है। उज्बेकिस्तान दूतावास को अब्दुलेवा की मौत के बारे में सूचित कर दिया गया है। उसका पासपोर्ट घटना स्थल से बरामद किया गया।

पुलिस ने क्या कहा?

थाना प्रभारी करमजीत ने कहा, “हमें सूचना मिली थी कि एक रिजॉर्ट में संदिग्ध परिस्थितियों में दो लोगों की मौत हो गई है। हमें कमरे से शराब की बोतल व कुछ चीजें बरामद हुई हैं, जिन्हें कब्जे में ले लिया गया है।” उन्होंने कहा कि शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है और रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों खुलासा हो पाएगा।

Continue Reading

देश

राम रहीम फिर आ गया जेल से बाहर, 4 साल में 9वीं बार मिली पैरोल

Published

on

Dera Sacha Sauda Chief: हरियाणा के रोहतक में सुनारियां जेल में सजा काट रहे गुरमीत राम रहीम को हरियाणा सरकार ने एक बार फिर से 50 दिन की पैरोल दी है. यह पैरोल शुक्रवार शाम या शनिवार सुबह से प्रभावी हो जाएगी. इसी दौरान वह जेल से बाहर आ चुका है. राम रहीम को यह पैरोल तब मिली है, जब वह अभी भी अपनी 29 दिन की फरलो काट रहा है. इस पैरोल के दौरान वह यूपी के बागपत जिले में स्थित अपने बरनावा आश्रम में रहेगा. राम रहीम को पिछले दो सालों में यह सातवीं बार पैरोल मिली है. वह अब तक कुल 9 बार जेल से बाहर निकल चुका है.

बार-बार जेल से बाहर निकल रहा:असल में हरियाणा के जेल नियमों के अनुसार, कोई भी सजायाफ्ता कैदी साल में 70 दिन पैरोल ले सकता है. शायद इसीलिए वह बार-बार जेल से बाहर निकल रहा है. बताया जा रहा है कि शुक्रवार को ही उसकी 50 दिन के पैरोल की अर्जी मंजूर हो गई. जैसे ही पुलिस को सूचना मिली तो जेल परिसर के आसपास सतर्कता बढ़ा दी गई. शिवाजी कॉलोनी थाना पुलिस ने आउटर हिसार बाईपास, रुपया चौक से लेकर आईएमएमए तक छानबीन की है. डीएसपी के नेतृत्व में पुलिस की टीम उसे यूपी छोड़कर आएगी.

9 बार पैरोल और फरलो
राम रहीम को अब तक उसे 9 बार पैरोल और फरलो मिल चुकी है. पहली बार 24 अक्टूबर 2020 को एक दिन की पैरोल दी गई थी. इस दौरान राम रहीम की मां बीमार थी और वह उनसे मिलने गया था. इसी तरह दूसरी बार 21 मई 2021 को फिर बीमार मां से मिलने के लिए एक दिन की पैरोल दी गई. तीसरी बार 7 फरवरी 2022 को 21 दिनों की पैरोल, चौथी बार जून 2022 को एक महीने की पैरोल मिली थी.

बता दें कि राम रहीम को दो साध्वियों के यौन शोषण मामले में 10-10 साल की सजा मिली है. इसके अलावा सीबीआई की विशेष अदालत ने पत्रकार रामचंद्र छत्रपति मर्डर केस में भी उनको उम्रकैद की सजा सुनाई गई है.

Continue Reading
Advertisement

Trending

Copyright © 2017 Zox News Theme. Theme by MVP Themes, powered by WordPress.