Connect with us

गुजरात

गुजरात: मर्डर केस के आरोपी रहे कांतिलाल को BJP ने दिया मोरबी से टिकट

Published

on

Gujarat assembly elections News :  गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने गुरुवार को अपनी पहली सूची जारी कर दी है।  इस सूची में एक चर्चित नाम सामने आया है। दरअसल बीजेपी ने मोरबी विधानसभा से ऐसे उम्मीदवार को टिकट दिया है जो नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष प्रवीण रवेशिया की हत्या का दोषी ठहराया जा चुका है।

मोदी के साथ कांतिलाल

बीजेपी ने पूर्व विधायक कांतिलाल अमृतिया को मोरबी विधानसभा से मैदान में उतारा है।  आपको बता दें कि 16 सितंबर साल 1999 को दिनदहाड़े 4 लोगों ने मोरबी नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष प्रवीण रवेशिया की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में सत्र अदालत ने साल 2004 में कांतिलाल अमृतिया और छह अन्य लोगों को दोषी मानते हुए उम्र कैद की सजा सुनाई थी जिसके चलते कांतिलाल को 3 साल साबरमती जेल में रहना पड़ा था। 

हालांकि साल 2007 में गुजरात हाईकोर्ट की दो न्यायाधीशों की खंडपीठ ने कांतिलाल को हत्या के आरोपों से इसलिए बरी कर दिया था क्योंकि केस के हाई कोर्ट तक पहुंचने पर कई गवाह अपने बयान से मुकर गए थे। 

माेरबी पुल हादसे के बाद BJP ने बदला टिकट

मोरबी विधानसभा के मौजूदा विधायक बृजेश मेरजा का बीजेपी ने टिकट काट दिया है।  बेरजा 2020 के उपचुनाव में भाजपा के टिकट पर विधायक बने थे। वहीं कांतिलाल भाजपा के पुराने नेता है।  वह मोरबी से पांच बार विधायक भी रह चुके हैं।  हाल ही में वह तब चर्चा में आए थे जब वो मोरबी ब्रज हादसे के दौरान राहत और बचाव कार्य में शामिल हुए।

इस दौरान उन्हे ट्यूब पहन कर पानी में कूदते हुए देखा गया था।  दावा किया गया था कि उन्होंने कई लोगों की जान भी बचाई थी।  बताया जा रहा है कि कांतिलाल अब तक टिकट पाने वालों की सूची में नहीं थे लेकिन हादसे के बाद जब उनका वीडियो वायरल हुआ तो पार्टी ने उन्हें टिकट देने का फैसला किया। 

Continue Reading
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

गुजरात

गुजरात सरकार ने लोकसभा चुनाव से पहले किया 50 IAS अधिकारियों का तबादला

Published

on

अहमदाबाद: कुछ महीनों में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले, गुजरात सरकार ने विभिन्न कलेक्टरों और जिला विकास अधिकारियों (डीडीओ) सहित 50 भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारियों का तबादला कर दिया है। एक अधिकारी ने बताया कि राज्य के सामान्य प्रशासन विभाग ने इस संबंध में मंगलवार रात एक अधिसूचना जारी की. अधिसूचना के अनुसार, जामनगर जिला कलेक्टर बीए शाह को वडोदरा जिले के नए कलेक्टर के रूप में स्थानांतरित किया गया है।

ए बी गोरे, जो वर्तमान में वडोदरा कलेक्टर के रूप में कार्यरत हैं, को गांधीनगर में मुख्यमंत्री कार्यालय में विशेष कर्तव्य अधिकारी (ओएसडी) के रूप में नियुक्त किया गया है। सूरत कलेक्टर आयुष ओक को वलसाड के नए कलेक्टर के रूप में स्थानांतरित किया गया है।

उनके तबादले-

वर्तमान में गुजरात पर्यटन निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक के रूप में कार्यरत सौरभ पारधी को सूरत का नया कलेक्टर नियुक्त किया गया है।

मोरबी जिला कलेक्टर जीटी पंड्या को अब देवभूमि द्वारका जिले का कलेक्टर नियुक्त किया गया है।
नवसारी कलेक्टर अमित प्रकाश यादव को केएल बचानी की जगह खेड़ा जिले का कलेक्टर बनाया गया है। बचानी को गांधीनगर में नया सूचना निदेशक नियुक्त किया गया है।वलसाड कलेक्टर क्षिप्रा अग्रे को नवसारी का नया कलेक्टर बनाया गया है।

गिर-सोमनाथ कलेक्टर एचके वाधवानिया को गांधीनगर के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग में अतिरिक्त सचिव नियुक्त किया गया है।

छोटा उदेपुर जिला कलेक्टर स्तुति चरण को जल एवं स्वच्छता प्रबंधन संगठन, गांधीनगर का मुख्य कार्यकारी अधिकारी नियुक्त किया गया है।

2016 बैच के आईएएस अधिकारी नितिन सांगवान, जो वर्तमान में गांधीनगर में मत्स्य पालन निदेशक के रूप में कार्यरत हैं, को जूनागढ़ के नए जिला विकास अधिकारी (डीडीओ) के रूप में नियुक्त किया गया है।

जूनागढ़ नगर निगम आयुक्त आरएम तन्ना को सुरेंद्रनगर का जिला विकास अधिकारी (डीडीओ) नियुक्त किया गया है।
2016 बैच के आईएएस अधिकारी ओम प्रकाश को आरएम तन्ना की जगह जूनागढ़ नगर निगम आयुक्त नियुक्त किया गया है, जो वर्तमान में मेहसाणा में जिला विकास अधिकारी (डीडीओ) के रूप में कार्यरत हैं।

गृह विभाग में संयुक्त सचिव के पद पर कार्यरत योगेश निरगुडे को दाहोद जिले का नया कलेक्टर नियुक्त किया गया है.
अहमदाबाद में अतिरिक्त राज्य कर आयुक्त के पद पर कार्यरत किरण झावेरी को मोरबी जिले में कलेक्टर के पद पर भेजा गया है।

अहमदाबाद की उप नगर आयुक्त नेहा कुमारी को महिसागर जिले का नया कलेक्टर बनाया गया है, जबकि मोरबी जिला विकास अधिकारी (डीडीओ) डी डी जाडेजा को गिर-सोमनाथ जिले का कलेक्टर बनाया गया है।

Continue Reading

गुजरात

Gujarat Boat Tragedy: 17 साल मिन्नतें मांगने पर मिली थी संतान, नाव हादसे में कपल के दोनों बच्चों की मौत

Published

on

Vadodara Gujarat boat accident in lake Couples children died born after 17 years of marriage: गुजरात के वडोदरा में एक दिल दहलाने वाले हादसे में 12 छात्रों की मौत हो गई। यह हादसा झील में नाव पलटने की वजह से हुआ जिसमें दो टीचर्स की भी जान चली गई। इस हादसे से कई हंसते-खेलते घरों में मातम का माहौल फैल गया। एक कपल के लिए यह इतना दुखदायी है कि उनका जीवन इसकी वजह से हमेशा-हमेशा के लिए वीरान हो गया। इस कपल को 17 साल बाद संतान हुई थी। शादी के 17 साल बाद जन्मे इनके दोनों बच्चों की इस नाव हादसे में मौत हो गई है।

इस कपल का शादी के बाद बच्चा नहीं हो रहा था। इसके लिए उन्होंने देवी-देवताओं से बहुत मिन्नतें मांगी। शादी के 17 साल तक इंतजार करने के बाद उनका एक बेटा और एक बेटी हुई। इनके जिन दो बच्चों की मौत हुई है उनमें दूसरी क्लास में पढ़ने वाला बेटा और तीसरी क्लास में पढ़ने वाली बेटी है।

यूके में रहते हैं बच्चों के पिता

अजवा रोड पर रहने वाले इस परिवार के रिश्तेदारों ने अंग्रेजी समाचार वेबसाइट इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि उन्होंने कई साल तक संतान होने की मिन्नतें मांगी थीं, इसके बाद उनके बच्चे हुए थे। उन्होंने बताया कि दोनों बच्चों को झील से बाहर निकालकर तुरंत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उनकी मौत हो चुकी थी। बच्चों के पिता यूके में रहते थे जो खबर मिलने के बाद वडोदरा पहुंच रहे हैं। दोनों बच्चों के शवों का पोस्टमार्टम कर लिया गया है और उनके पिता के आने के बाद अंतिम संस्कार किया जाएगा।

सेल्फी लेते वक्त पलटी नाव

बता दें कि नाव पलटने की इस घटना में न्यू सनराइज स्कूल के कम से कम 12 बच्चों की मौत हुई है। ये सभी यहां पिकनिक मनाने पहुंचे थे। यह हादसा उस वक्त हुआ जब नाव में सवार कुछ लोगों ने सेल्फी लेने की कोशिश की। इस वजह से नाव पलट गई और पानी में डूब गई। पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है और जांच की जा रही है।

 

 

Continue Reading

गुजरात

Major accident due to boat capsizing in Vadodara, Gujarat, 9 children and 2 teachers died due to drowning in the lake, many missing

Published

on

गुजरात के वडोदरा में नाव पटलने से बड़ा हादसा हो गया है। बताया जा रहा है कि हरनी मोटनाथ झील में बच्चों को ले जा रही एक नाव पलट गई है। कई बच्चे पानी में डूब गए हैं। प्राथमिक सूचना के अनुसार, अब तक 9 बच्चों की डूबने से मौत हो चुकी है। कई बच्चे लापता बताये जा रहे हैं। डूबने वालों में दो टीचर भी शामिल हैं जिनकी मौत हो गई है।

नौकायन के लिए आए थे बच्चे

मिली जानकारी के अनुसार, हरणी मोटनाथ झील में नौकायन के लिए स्कूली बच्चों को लेकर एक स्कूल के टीचर आए हुए थे। नाव में 23 बच्चे और चार टीचर थे। यानी की 27 लोग नाव में सवार थे। अभी तक कुल 11 लोगों के शव बरामद किए गए हैं। इनमें से 9 बच्चे और दो टीचर बचाए जा रहे हैं। बाकी 16 लोगों की तलाश जारी है। रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। नाव चलाने वाले के बारे में भी अभी तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है।

पिकपिन मनाने आए थे बच्चे

हरनी मोटनाथ झील में नौकायन के लिए बच्चे किस स्कूल के थे इसकी जानकारी अभी नहीं मिल पाई है। पुलिस का कहना है कि बचाव कार्य समाप्त हो जाने के बाद मृतकों की पहचान की जाएगी और उनके परिजनों को सूचित किया जाएगा। फिलहाल अभी प्रशासन का ध्यान बचाव कार्य पर है।

शिक्षा मंत्री ने कही ये बात

गुजरात के शिक्षा मंत्री कुबेर डिंडोर ने कहा, मुझे अभी पता चला है कि स्कूली छात्रों को ले जा रही एक नाव के झील में पलट जाने से कुछ बच्चों की मौत हो गई। उन्होंने कहा, “बचाव अभियान जारी है। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और अग्निशमन कर्मी अन्य एजेंसियों के साथ बचाव कार्य कर रहे हैं। वडोदरा के जिलाधिकारी एबी गोर ने कहा कि नौका में 27 लोग सवार थे। वडोदरा के मुख्य अग्निशमन अधिकारी पार्थ ब्रह्मभट्ट ने कहा, यहां पिकनिक मनाने आये स्कूली छात्रों को ले जारी नौका दोपहर में हरनी झील में पलट गई।

Continue Reading
Advertisement

Trending

Copyright © 2017 Zox News Theme. Theme by MVP Themes, powered by WordPress.