नई दिल्ली: ईरान की राजधानी तेहरान से चीन जा रहे एक यात्री विमान के चालक दल ने दिल्ली में आपातकालीन लैंडिंग की इजाजत मांगी, लेकिन दिल्ली एयर ट्रैफिक कंट्रोलर (ATC) ने इजाजत नहीं दी।एटीसी ने पायलट से विमान को जयपुर या चंडीगढ़ डायवर्ट करने को कहा मगर पायलट ने इससे इंकार कर दिया।

इसी बीच पाकिस्तान के लाहौर एयरपोर्ट के एयर ट्रैफिक कंट्रोलर से सुबह 9 बजे दिल्ली एटीसी को फ्लाइट में बम होने की खबर दी गई। सूचना पर एयरपोर्ट और वायुसेना अलर्ट मोड पर आ गए। और वायुसेना ने तुरंत अपने दो सुखोई 30 एमके आई लड़ाकू विमानों को फ्लाइट को खोजने के लिए रवाना किया। इस पूरे घटनाक्रम पर भारतीय सुरक्षा एजेंसियां नजर रख रही हैं।

दरअसल, महान एयरलाइंस की फ्लाइट संख्या डब्ल्यू 581 विमान ने ईरान के तेहरान से चीन में ग्वांगझू के लिए उड़ान भरी। महान एयर ने दिल्ली एटीसी से संपर्क कर इमरजेंसी लैंडिंग की इजाजत मांगी। दिल्ली एटीसी ने विमान को जयपुर जाने का सुझाव दिया लेकिन विमान के पायलट ने मना कर दिया। वही एटीसी को विमान में बम होने की सूचना मिली। जिसके बाद अलर्ट जारी कर दिया गया। तुरंत ही भारतीय वायुसेना हरकत में आई और जोधपुर व पंजाब से दो सुखोई लड़ाकू विमानों ने हवा में उड़ान भरी।

न्यूज एजेंसी एएनआई ने कहा कि भारतीय हवाई क्षेत्र में ईरानी यात्री जेट का चीन जा रहे विमान में ‘बम होने की जानकारी मिली। इसके बाद इंडियन एयरफोर्स को अलर्ट करते हुए जोधपुर और पंजाब एयरफोर्स के सुखोई-30 लड़ाकू जेट्स ने विमान की निगरानी करने के लिए उड़ान भरी। कहा जा रहा है कि ईरान का यात्री जेट अब चीन की ओर बढ़ रहा है। सुरक्षा एजेंसियां विमान की निगरानी कर रही हैं।

Manoj Kumar