मनोज कुमार

ट्रॉफी उठाकर जीत का जश्न मनाते अर्जेंटीना के खिलाड़ी

Argentina vs France: कतर में विश्व कप के फाइनल में अर्जेंटीना ने फ्रांस को पेनल्टी शूटआउट में 4-2 से हराकर विश्व चैंपियन बन गया है। वह 36 साल बाद विश्व कप जीतने में सफल रहा है। इससे पहले उसने 1978 और 1986 में वर्ल्ड कप खिताब को अपने नाम किया था। इसके साथ ही अर्जेंटीना ने 16 वर्ष से चला आ रहा यूरोपियन टीम का दबदबा भी समाप्त कर दिया है। 2002 में ब्राजील की जीत के बाद किसी गैरयूरोपियन टीम ने यह  खिताब जीता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अर्जेंटीना को फीफा वर्ल्ड कप चैंपियन बनने पर बधाई दी है।

फ्रांस के स्टार खिलाड़ी किलियन एम्बाप्पे

कतर के लुसैल स्टेडियम में खेले गए फुटबाल विश्व कप के फाइनल मैच में निर्धारित 90 मिनट तक मुकाबला 2-2 की बराबरी पर रहने के बाद एक्स्ट्रा टाइम में मैच पहुंच गया। वहां लियोनल मेसी ने एक गोल कर अर्जेंटीना को 3-2 से आगे कर दिया, लेकिन फ्रांस के स्टार फुटबॉलर किलियन एम्बाप्पे ने 117वें मिनट में गोल कर मैच को 3-3 की बराबरी पर ला दिया। दुनिया के महानतम फुटबॉल खिलाड़ियों में शुमार अर्जेंटीना के लियोनल मेसी और फ्रांस के युवा स्टार किलियन एम्बाप्पे ने अपने नाम के अनुरूप प्रदर्शन किया। फाइनल मैच में मेसी ने दो और एम्बाप्पे ने तीन गोल दागे।

ट्रॉफी के साथ लियोनेल मेसी और गोल्डन बूट के साथ किलियन एम्बाप्पे

लियोनल मेसी ने मैच के 23वें मिनट में पहला गोल किया। वह एक विश्व कप के सभी नॉकआउट मैचों में गोल करने वाले दुनिया के पहले फुटबॉलर बन गए हैं। 36वें मिनट में एंजेल डी मारिया ने गोल कर टीम को 2-0 से आगे कर दिया। इस तरह अर्जेंटीना की टीम हाफटाइम तक  2-0 से आगे थी। 80 मिनट तक फ्रांस की तरफ से कोई गोल न होने से ऐसा लगा कि अर्जेंटीना अब मैच को आसानी से जीत लेगा, लेकिन किलियन एम्बाप्पे ने दो मिनट में दो गोल कर मैच को पलट दिया। उन्होंने 80वें और 81वें मिनट में गोल कर दिया।

निर्धारित 90 मिनट तक दोनो टीमों का स्कोर 2-2 की बराबरी पर रहा। जिस कारण दोनों टीमों को 15-15 मिनट के दो हाफ मिले। 108वें मिनट में लियोनेल मेसी ने गोल कर मैच में अर्जेंटीना को 3-2 से आगे कर दिया। अर्जेंटीना को जीत के करीब देख किलियन एम्बाप्पे ने फिर से 117वें मिनट में गोल कर मैच को 3-3 की बराबरी पर ला दिया। इसके बाद मैच पेनल्टी शूटआउट में पहुंच गया। वहां अर्जेंटीना ने मुकाबले को 4-2 से अपने नाम कर लिया।

एम्बाप्पे ने अर्जेंटीना के खिलाफ फाइनल मैच में तीन गोल कर रोनाल्डो के रिकॉर्ड की बराबरी की है और गोल्डन बूट भी अपने नाम किया है। 2002 के बाद वह सिर्फ दूसरे फुटबॉल खिलाड़ी हैं, जिन्होंने किसी विश्व कप में आठ गोल किए हैं। उनसे पहले ब्राजील के रोनाल्डो ने यह कारनामा किया था।

Manoj Kumar