Connect with us

Hi, what are you looking for?

राजस्थान

Rajasthan REET Exam: 6 लाख रुपये की चप्पल पनकर परीक्षा देने पहुंचा था छात्र, फटा-फट भर रहा था कॉपी‚ ऐसे हुआ गिफ्तार

राजस्थान में REET का इम्तिहान चल रहा था और इस इम्तिहान पर नकलचियों की नजर लगी हुई थी। नकल करने के नए-नए तरीके इजाद किए जा रहे हैं। एक ऐसा ही मामला राजस्थान की बीकानेर पुलिस ने पकड़ा है। पुलिस ने नकलचियों से एक चप्पल बरामद की है जिसे नकल माफिया ने एग्जाम देने वाले को 6 लाख रुपये में बेचा था।

खबर शेयर करें
राजस्थान पुलिस ने पकड़ी 6 लाख रुपये की चप्पल,नकल करने में हो रहा था चप्पल का इस्तेमाल!

Rajasthan REET Exam 2021:: राजस्थान में रविवार को अध्यापक पात्रता परीक्षा [REET] का आयोजन किया गया। इस दौरान कई परीक्षा केन्द्रों पर नकल रोकने के लिए पुलिस और केन्द्र पर तैनात कर्मचारियों ने अभ्यर्थियों के साथ अमानवीय व्यवाहर किया। नकल चैक करने के लिए कई लड़कियों के कपड़े तक कैंची से काट दिए गए। इस बीच राजस्थान के बीकानेर से नकल करने का एक ऐसा हाइटेक मामला सामने जो आपने पहले कभी नही सुना होगा।

यहां एक परीक्षा केन्द्र पर एक 6 लाख रूपए की चप्पल पहनकर पहुंचा था। जो मिनटों में सभी प्रश्नों का हल कर रहा था। इस चप्पल की खास बात ये थी कि इसके अंदर एक ब्लूटूथ लगाया गया था जिसकी मदद से परीक्षा में बैठा शख्स परीक्षा में आने वाले सवालों के जवाब बाहर पूछता था और बाहर बैठा नकल माफिया उन सवालों के जवाब अभ्यर्थियों को बता रहा था।

चप्पल के तलवे [शाल] को नकल मफियाओं ने खासतौर पर तैयार किया था। आरोपियों ने चप्पल के तलवे में एक खास किस्म की ब्लटूथ डिवाइस लगाई गई थी। डिवाइस को कान में लगे ईयरफोन से जोड़ा गया था। यह ईयरफोन बेहद ही छोटा था और उसका रंग बिल्कुल इंसानी त्वचा के रंग जैसा था ऐसे में कान में लगी उसी डिवाइस का पहचानना बेहद मुश्किल था।

तीन लोग गिरफ्तार

मामला सामने आने के बाद बीकानेर पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। ये कार्रवाई बीकानेर के गंगाशहर में की गई । पुलिस ने बताया है कि नकल माफिया नकल कराने के लिए हर बार कुछ न कुद नए-नए प्रयोग करता रहते हैं। सबसे ताजा उदाहरण ये खास चप्पल है जिसकी मदद से नकल कराई जा रही थी।

चप्पल की तली में ब्लूटूथ डिवाइस लगाई गई थी।

6 लाख में खरीदी थी चप्पल

नकल माफियाओं ने ये चप्पल परीक्षा देने वालों लोगों को 6 लाख रुपये में बेची थी। पुलिस अब ये पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आरोपियों ने किस-किस जगह पर अभ्यर्थियों को ये चप्पल बेची हैं। पुलिस मानकर चल रही है कि और भी कई जगह इसी तरह की चप्पल पहनकर कुछ लोगों ने परीक्षा दी होगी।

पहले भी हो चुके आरोपी गिरफ्तार

गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान ओम प्रकाश, मदन व त्रिलोक के रूप में हुई है। ये सभी आरोपी चुरू के रहने वाले हैं। पुलिस ने बताया है कि एक और आरोपी तुलसीराम कलेरा का नाम भी सामने आया है। तुलसीराम पहले भी नकल के एक मामले में गिरफ्तार हो चुका है। कलेरा बीकानेर में कोचिंग सेंटर चलाता था।

कोचिंग सेंटरों पर संपर्क करते हैं नकल मफिया

चप्पल के साथ ईयरपीस भी था जिसे ढूंढ पाना बेहद मुश्किल है।

पुलिस के अनुसार ऐसे बहुत सारे कोचिंग सेंटर संचालक हैं जो प्रदेश में होने वाली अलग-अलग भर्ती परीक्षाओं में नकल माफिया की भूमिका निभाने लगे हैं। वो या तो एग्जाम से पहले ही पेपर आउट कराने के काम करते हैं तो कुछ लोग परीक्षा केन्द्रों पर नकल कराने का ठेका लेते हैं।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: