Connect with us

Hi, what are you looking for?

रोचक जानकारी

जानिए कैसे खोलें अपना खुद का स्कूल‚ क्या है मान्यता प्राप्त करने की पूरी प्रक्रिया ?

स्कूल खोलने के लिए सबसे पहले आपको एक संस्था बनानी होगी‚ जिसमें सदस्य एवं पदाधिकारी के तौर पर 5 से 11 लोग होने चाहिए। उसके बाद उस संस्था को जिले के रजिस्टार ऑफिस से रजिस्टर्ड करना पड़ता है। आपको रजिस्टार कार्यालय में जाकर अपनी संस्था का रजिस्ट्रेशन करने के लिए आवेदन करना पड़ेगा।

खबर शेयर करें


How to get school accredited: आज के समय में शिक्षित होना अति आवश्यक है। एक शिक्षित व्यक्ति अपने साथ-साथ अन्य लोगों के जीवन को भी उन्नति भरा बना सकता है। शिक्षा एक क्षेत्र है जिसमें सम्मान के साथ पैसा भी खूब कमाया जा सकता है। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से स्कूल खोलने के बारे में जानकारी दे रहे हैं। [School accreditation process]

आपको बता दें कि कोई संस्था चलाने से पहले सरकार से उसका लाइसेंस लेना अनिवार्य होता है। ठीक इसी तरह से स्कूल चलाने के लिए आपको मान्यता लेना जरूरी होता है। यहां आप ये जान सकते है कि स्कूल की मान्यता प्राप्त करने की क्या प्रक्रिया है। कैसे आप अपना एक प्राइवेट स्कूल खोल सकते हैं। आपको उसमें कितनी जमीन‚ और कौन कौन से डॉक्यूमेंट की आवश्यकता पड़ेगी।

पहले बनानी पड़ेगी संस्था


स्कूल खोलने के लिए सबसे पहले आपको एक संस्था बनानी होगी‚ जिसमें सदस्य एवं पदाधिकारी के तौर पर 5 से 11 लोग होने चाहिए। उसके बाद उस संस्था को जिले के रजिस्टार ऑफिस से रजिस्टर्ड करना पड़ता है। आपको रजिस्टार कार्यालय में जाकर अपनी संस्था का रजिस्ट्रेशन करने के लिए आवेदन करना पड़ेगा जिसमें आपको रजिस्ट्रेशन का कुछ शुल्क भी जमा करना पड़ेगा। उसके करीब एक सप्ताह बाद आपको रजिस्ट्रेशन कार्यालय से संस्था का सर्टिफिकेट मिलेगा।

बिल्डिंग

जब आपकी संस्था या सोसाइटी रजिस्टर्ड हो जाए तो उसके बाद स्कूल बनाने के लिए स्कूल की बिल्डिंग एवं खेल का मैदान चयन करना पड़ेगा। अन्यथा आप बिल्डिंग व मैदान किराय पर भी ले सकते हैं। आप जिस क्लास तक स्कूल खोलना चाहते हैं आपको उतने ही कमरे तैयार करने पड़ेंगे। इसके अलावा एक ऑफिस और बच्चों के लिए अलग-अलग टॉयलेट-बाथरूम के साथ-साथ पीने के पानी की व्यवस्था करनी पड़ेगी। ध्यान रहे कि बिल्डिंग मजबूत और टिकाऊ होनी चाहिए। बिल्डिंग में फायर उपकरणों का लगाया जाना बहुत जरूरी होता है।

बिल्डिंग और फायर प्रमाण पत्र

अब आपको बिल्डिंग की मजबूती और फायर सिस्टम के सही से कार्य करने का एक प्रमाण पत्र लेना आवश्यक है। इसके लिए आपको बिल्डिंग‚ जमीन और फायर सिस्टम के साक्ष्य यहा दस्तावेज लेकर जिला वित्त मजिस्ट्रेट के यहां NOC प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करना पड़ेगा। यहां से एक टीम आपके स्कूल का निरक्षण करने के लिए जाएगी। जांच में सब सही पाया जाता है तो आपको बिल्डिंग और फायर प्रमाण पत्र जारी कर दिया जाएगा।

BSA या DIO कार्यालय में आवेदन

अब वर्ष के अप्रैल या मई माह में आपको जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी [1 से 5वीं तक के लिए] या जिला विद्‍यालय निरक्षक [6 से 12वीं तक] कार्यालय में ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन आवेदन कराना पड़ेगा। यहां भी आपको शुल्क जमा करना पड़ता है। आपको एक फॉर्म मिलेगा‚ उसमें आपको सभी आवश्यक जानकारी भरनी होती है। फॉर्म में साथ संस्था का सर्टिफिकेट स्कूल की बिल्डिंग‚ फायर सर्टिफिकेट की NOC एवं अन्य जरूरी दस्तावेज संकलन करने पड़ते हैं। इसके बाद उस फॉर्म को जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी [1 से 5वीं तक के लिए ] या जिला विद्‍यालय निरक्षक [6 से 12वीं तक] कार्यालय में जमा करना पड़ता है।

कुछ दिनों बाद BSA या जिला विद्‍यालय निरक्षक कार्यालय से आपके बताए हुए स्कूल स्थान पर आकर एक टीम जांच करेगी जिसमें कार्यालय में जमा करे हुए सभी कागजों तथा बिल्डिंग की गुणवत्ता से संबंधित जांच होगी। अगर इस दौरान जमा किए हुए कागजों में दी गई जानकारी सही नही पायी गई तो आपका आवेदन निरस्त कर दिया जाएगा।

मिल जाएगी मान्यता

लेकिन अगर आपके द्वारा दी गई जानकारी पूरी तरह से सही पाई जाती है तो जांच के करीब एक माह बाद आपको स्कूल खोलने की मान्यता दे दी जाएगी। मान्यता सर्टिफिकेट में 5 से लेकर 15 शर्तों के साथ आपको स्कूल संचालन करने के लिए कहा जाएगा। इन सभी शर्तों को आपको मानना पड़ेगा अन्यथा आपकी मान्यता निरस्त कर दी जाएगी।

स्कूल स्टॉफ

अब आपको स्कूल स्टाफ की आवश्यकता पड़ेगी। आपको कौन सी कक्षा तक स्कूल की मान्यता प्राप्त हुई है। उसके हिसाब से शिक्षक की आवश्यकता पड़ेगी। इसके अलावा एक क्लर्क‚ स्कूल आया‚ और चपरासी की नियुक्ति भी अवश्य करनी पड़ेगी। आपको एक प्रधानाचार्य भी नियुक्त करना पड़ेगा‚ जिसकी शैक्षिक योग्यता कम से कम B-Ed होनी चाहिए। इतना सब करके आप एक स्कूल के मालिक बन सकते हैं।

यह भी पढ़ें

जानिए कैसे हुई You Tube की शुरूआत‚ कौन हैं इसके संस्थापक‚ और किसने किया पहला वीडियो अपलोड

जानिए क्या ग्राम प्रधान अथवा सरपंच द्वारा हस्ताक्षरित दस्तावेज से आधार कार्ड का पता बदला जा सकता है?

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: