Author- Saleem Farooqui

कैराना: रामडा(RamdaVillage) गांव में एक सप्ताह पूर्व बच्चो के विवाद(children’s disputes) में हुए जानलेवा हमले के दो आरोपियो(two accused) ने पुलिस(police) का दबाव बढने पर कोतवाली(Kotwali) में पहुचकर आत्म समपर्ण(self surrender) कर दिया तथा आगे से अपराध(Crime) की तौबा की।

30 नवम्बर को गांव रामडा में बच्चो के विवाद में भूरा पक्ष के लोगो ने लाठी डंडो व धारदार हथियारो से हमला करके दिलशाद व उसकी पत्नी जाहिदा को गंभीर रूप से घायल कर दिया था। उक्त हमले की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी।

मामले में दिलशाद के पिता लतीफ की तहरीर पर पुलिस ने 5 आरोपियो के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया था। वही आरोपियो की गिरफ्तारी के लिए पुलिस रात दिन दबिश डाल रही थी। पुलिस के बढते दबाव के चलते सोमवार सुबह मामले में आरोपी नाहिद व भूरा उर्फ युसूफ निवासी रामडा अपने हाथ उठा कर कोतवाली पहुचे जहा पर उन्होने अपराध से तौबा करने की बात कही।

कोतवाली प्रभारी प्रेमवीर राणा ने बताया कि मामले में आत्म समपर्ण करने आये दोनो आरोपियो को गिरफ्तार करके चालान कर दिया।

Bharti Sharma

Bharti Sharma

Next Story