Connect with us

Hi, what are you looking for?

क्राइम

मुजफ्फरनगर: ग्राम प्रधान के भाई के घर से एक करोड़ की एक्सपायरी दवाइयां बरामद‚ आरोपी फरार

इस दवाइयों से एक्सपायरी डेट और MRP की मुहर मिटाकर दूसरी मुहर लगाकर बाजार में बेचे जाने का अनुमान हैं। करवाई के लिए सारी दवाएं सील कर 4 छोटे मिनी ट्रक में भरकर नई मंडी कोतवाली पहुंचा दी गई हैं। इस दौरान मुख्य आरोपी फरार होने में कामयाब हो गया।

खबर शेयर करें
फोटो- आँखों देखी लाइव

Expired medicines news in hindi: मुजफ्फरनगर जिले के नई मंडी कोतवाली क्षेत्र के शेरनगर गांव के ग्राम प्रधान इमरान के भाई इनाम के घर पर सिटी मजिस्ट्रेट अभिषेक सिंह के नेतृत्व में औषध विभाग (Drugs Department) ने छापा मारकर लगभग एक करोड़ रुपये की एक्सपायरी दवाईयां बरामद की हैं। [ One crore expired medicines recovered ]

इस दवाइयों से एक्सपायरी डेट और MRP की मुहर मिटाकर दूसरी मुहर लगाकर बाजार में बेचे जाने का अनुमान हैं। करवाई के लिए सारी दवाएं सील कर 4 छोटे मिनी ट्रक में भरकर नई मंडी कोतवाली पहुंचा दी गई हैं। इस दौरान मुख्य आरोपी फरार होने में कामयाब हो गया।

फोटो- आँखों देखी लाइव

ड्रग इंस्पेक्टर लवकुश प्रसाद ने बताया कि प्रधान के भाई के मकान ओर एक कार से बरामद दवाइयों की कीमत लगभग 80 लाख से एक करोड़ रुपये बतायी गयी है। इसका हिसाब लगाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि ड्रग्स विभाग की पूरी टीम बरामद दवाइयों का लेखा जोखा शनिवार पूरी रात से तैयार करने में लगी हुई है।

रविवार शाम तक बरामद दवाइयों का पूरा लेखा जोखा तैयार कर लिया जाएगा। करीब एक करोड़ रुपये की दवाईयों का जखीरा पकड़े जाने पर सहारनपुर मंडल के औषधि नियंत्रण एव प्रशासन विभाग के अपर आयुक्त वीरेंद्र सिंह भी जांच के लिए मौके पर पहुंचे हैं।

हमारे संवाददाता से फ़ोन पर बातचीत के दौरान मुजफ्फरनगर औषधि निरीक्षक लवकुश प्रसाद ने बताया कि शेरपुर से बरामद सभी प्रकार की एलोपेथिक दवाइयों में से बड़ी मात्रा में विटामिन सी और मल्टी विटामिन की दवाइयां प्रयोग में लाने के लिए एक्सपायर हो चुकी हैं।

तथ्यों के आधार पर अनुसान लगाया जा रहा है आरोपी इन दवाओं पर लगी एक्सपायरी डेट और फिजीशियन सैंपल नॉट फॉर सेल की मुहर को मिटाकर इन पर नई तारीख की मुहर व मूल्य बढ़ाकर बाजार में बेच रहे थे।गृह स्वामी आरोपी इनाम मौके से फरार मिला। उसके भाई गांव के प्रधान को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। दवाईयां किन मेडिकल स्टोरों पर सप्लाई की जा रही है और किन मेडिकल स्टोर्स से ली गई, इस मामले में जांच की जा रही है।

लवकुश प्रसाद ने बताया कि रविवार रात तक ही दवाओं का विवरण बनकर तैयार हो पायेगा। लेकिन दवाओं की मात्रा को देखते हुए उनकी अनुमानित कीमत 80 लाख से एक करोड़ के बीच हो सकती है। उन्होंने कहा कि इतने बड़े पैमाने पर मुजफ्फरनगर में पहले दवा का जखीरा नहीं मिला है। इनाम के पकड़े जाने पर मामले की असलियत सामने आएगी।

यह भी पढ़ें- UP: झांसी जिला प्रशासन ने मृत शिक्षक की लगा दी चुनाव में ड्यूटी, गैरहाजिर होने पर कार्रवाई का अल्टीमेटम

यह भी पढ़ें- Meerut: महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, परिजनों ने लगाया पति पर हत्या का आरोप

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: