Connect with us

Hi, what are you looking for?

क्राइम

मेरठ: एक करोड़ की चोरी का खुलासा, 7 गिरफ्तार, भारी मात्रा में हीरे और सोने चांदी के आभूषण बरामद 

एसपी सिटी ने बताया कि 27/28 अगस्त की रात्रि में सिविल लाइन्स क्षेत्र के नगलाबट्टू साकेत में लगभग एक करोड़ की चोरी हुई थी। कोठी में रहने वाले शख्स  देहरादून गए हुए थे जिस कारण घर में ताला बंद था। चोरों ने उनके घर की रेकी की और ग्रिल काटकर करोड़ों की चोरी कर डाली। उन्होंने बताया कि चोरों ने ज्यादातर गोल्ड डायमंड की ज्वैलरी सहित लाखों की नकदी भी उड़ाई थी। पुलिस ने बदमाशों के पास से ज्वैलरी के साथ साढ़े सात लाख रुपए कैश भी बरामद किया गया है।  करोड़ों की चोरी का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को प्रशस्ति पत्र देने की घोषणा की गई है।

खबर शेयर करें

Author जावेद खान

एसपी सिटी विनीत भटनागर और सीओ देवेश सिंह, गिरफ्तार आरोपी: फोटो आँखों देखी लाइव

Meerut: मेरठ पुलिस ने एक करोड़ की चोरी का पुलिस ने सनसनीखेज़ खुलासा करते हुए सात लोगों को गिरफ्तार कर भारी मात्रा में हीरे सोने चांदी के आभूषण बरामद किए। बरामद जेवरात इतने ज्यादा थे कि प्रेस कॉंफ्रेंस के दौरान की पुलिसकर्मी बीस टेबल पर ज़ेवरात के डब्बों को ही दुरुस्त करते रहे।

एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि
चोरी के मामले में सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है जिसमें एक महिला भी शामिल है,जबकि एक शख्स अभी भी फरार चल रहा है। इनके पास से ज्यादातर जेवरात और कैश बरामद कर लिया गया है। एसपी सिटी ने बताया कि इस चोर गैंग का आपराधिक इतिहास है। इस गैंग ने और कितनी चोरियां की हैं इसकी पड़ताल की जा रही है।

इस वारदात को अंजाम देने वाले इरशाद, कुलदीप, अकबर, इकराम, तनवीर दिलशाद सहित एक महिला सितारा को भी गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि एक शख्स अभी भी फरार है जिसके पास चोरी का ज्यादा माल होने की बात कही जा रही है।  घटना का मास्टरमाइंड इरशाद बताया जाता है।  इरशाद सहारनपुर में रह रहा था। लिहाज़ा इस खुलासे को करने में पुलिस को ख़ासी मशक्कत करनी पड़ी थी। यहां से उन सुनारों को भी गिरफ्तार किया गया है जिनके यहां ये गैंग चोरी के आभूषण बेचते थे।

उन्होंने बताया कि इस खुलासे को करने में तीन टीमें लगाई गईं थीं। इस चोर गैंग के काम करने का तरीका बेहद शातिराना था। पहले गैंग के सदस्य बंद मकान की रेकी करते थे और फिर जब वो संतुष्ट हो जाते थे कि इस बंद पड़े मकान में कोई आने जाने वाला नहीं है तभी वो चोरी की घटना को अंजाम देते थे। बाकायदा ई रिक्शा ऑटो रिक्शा से ये गैंग पहले रेकी करता था। कौन सदस्य चोरी के लिए घर के अंदर दाखिल होगा। कौन बाहर रहकर गैंग के सदस्यों को आगाह करेगा बाकायदा इसकी प्लानिंग  की जाती थी।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: