Connect with us

Hi, what are you looking for?

क्राइम

मेरठ अमित बंसल सुसाइड केस: बेटे की मौत के बाद ससुर ने बहु पर किया था कातिलाना हमला, गिरफ्तार

एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने घटना की जांच के लिए सीओ सिविल लाइन ब्रिजेश कुमार के नेतृत्व में विशेष जांच दल (एसआइटी) का गठन किया है। एसआइटी में सर्विलांस प्रभारी, साइबर सेल प्रभारी और इंस्पेक्टर नौचंदी को शामिल किया गया है। फुटेज सामने आने पर पुलिस ने आरोपी रामकिशन को गिरफ्तार कर लिया है। 

खबर शेयर करें

Manoj kumar

मृतक अमित व उनकी पत्नी पिंकी

Meerut: मेरठ के शास्त्री नगर में अमित बंसल कांड के मामले में नामजद उसके पिता रामकिशन बंसल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोप है कि बेटे की आत्महत्या के बाद रामकिशन ने आपा खोते हुए अपनी पुत्रवधू पिंकी पर कातिलाना हमला किया है। वही पिंकी की हालत अभी नाजुक बनी हुई है। डॉक्टरों ने उसको वेंटिलेटर पर रखा हुआ है।

शहर के चर्चित अमित आत्महत्या प्रकरण में सीसीटीवी की फुटेज स्पष्ट होने के बाद पूरी कहानी बदल गई है। अब तक जो पुलिस भी पिंकी द्वारा खुद गर्दन पर कटर मारने के दावे कर रही थी वही अब बैकफुट पर आ गई है।अमित बंसल की आत्महत्या में अहम सबूत के तौर पर सामने आई सीसीटीवी फुटेज ने दिल दहला देने वाली हकीकत बयां की है।

इस फुटेज को देखकर यह स्पष्ट हो गया है कि अब परिवार में रिश्ते सिर्फ नाम के रह गए थे। पुलिस ने फुटेज देखने के बाद बताया कि अमित के आत्महत्या करने के बाद जब पिंकी वहां पहुंची तो फंदे पर झूलता देख उसे उतारने की कोशिश की। बहुत देर तक भी फंदा नहीं खुला तो उसने पेपर कटर से फंदा काट दिया। अमित का बेजान शरीर नीचे गिर गया। वह उसके शरीर को बार-बार हिलाती और चीखती-चिल्लाती रही।

जब पिंकी को यकीन हो गया कि अमित जिंदा नहीं है तो उसने पहले उसी फंदे को अपने गले में डालने की कोशिश की।  इसमें कामयाब नहीं होने पर उसने कटर से अपने हाथ की नस काट ली और अमित के साथ लिपटकर रोने लगी। इस दौरान अमित की मां कोने में खड़ी चुपचाप सब देखती रही। तभी अपनी रामकिशन आठ माह की पोती इक्कावीरा को गोद में लेकर वहां पहुंच गए।

रामकिशन ने जाते ही अमित के शव से लिपटी लहूलुहान पिंकी को बुरी तरह लात-घूंसों से पीटना शुरू कर दिया। इसके बाद रामकिशन ने जमीन पर पड़ा कटर उठा लिया। फुटेज में यहीं से धुंधलापन है। लेकिन मौका-ए-वारदात का सीन यह स्पष्ट कर रहा है कि रामकिशन द्वारा उठाया गया कटर फेंका नहीं गया था। पिंकी की गर्दन पर उसी से वार किए गए। क्योंकि पहली फुटेज में पिंकी ने सिर्फ अपने हाथ की नस काटी, गर्दन पर वार रामकिशन ने ही किए। पिंकी तड़पती रही लेकिन, रामकिशन का कलेजा नहीं कांपा।

ये था पूरा मामला

मूलरूप से मेरठ जिले के किठौर निवासी रामकिशन बंसल शास्त्रीनगर के सेक्टर-एक में रहते हैं। उनके बेटे अमित बंसल का घर के पास ही इंटीरियर डिजाइनिंग का आफिस है। सोमवार शाम अमित ने आफिस में फांसी लगाकर जान दे दी थी। अमित के शव को देखकर उसकी पत्नी पिंकी ने अपने हाथों की नस और गर्दन पर पेपर कटर से कई वार किए थे। पिंकी को मायके पक्ष के लोगों ने नोएडा के जेपी अस्पताल में भर्ती कराया है।उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है।

जिला गाजियाबाद निवासी पिंकी के पिता मनोज गुप्ता कारोबारी हैं। मनोज बुधवार को अपने बेटे मोहित के साथ नौचंदी थाने पहुंचे। उन्होंने तहरीर देकर बताया कि अमित की आत्महत्या और बेटी पिंकी पर जानलेवा हमला सोची-समझी साजिश है। पिंकी पर किसी और ने हमला किया है।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: