Connect with us

Hi, what are you looking for?

क्राइम

हैवानियतǃ खुद के नही थी कोई औलाद‚ इसलिए दोस्त के 7 वर्षीय बेटे की दे दी बलि

शुक्रवार (20 अगस्त) की सुबह सोनाली (ताल. कागल) में एक दोस्त के बेटे को खुद बच्चा न होने पर अगवा कर उसकी हत्या कर देने की दुखद घटना का खुलासा हुआ. मृतक का नाम वरद पाटिल था, जो सात साल का एक बच्चा है। उसका दो दिन पहले सावरदे बुद्रुक (ताल कागल) से अपहरण कर लिया गया था।

खबर शेयर करें
घटना के बाद मौके पर मौजूद भीड़ और बच्चे का फाइल फोटो

कागल (कोल्हापुर): महाराष्ट्र के कोल्हापुर में दिल दहला देने वाली शर्मनाक घटना सामने आई है. यहां कोल्हापुर के कागल तालुका में दोस्त के नाम कलंक एक युवक ने अपने ही दोस्त के सात वर्षीय बेटे का अपहरण कर लिया और फिर उसकी हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि आरोपी के कोई संतान नही थी इसलिए तांत्रिक के बहकावे में आकर उसने दोस्त के बच्चे की बलि दी। इस घटना ने पूरे कोल्हापुर जिले को झकझोर कर रख दिया है।

आख़िर मामला क्या है?

शुक्रवार (20 अगस्त) की सुबह सोनाली (ताल. कागल) में एक दोस्त के बेटे को खुद बच्चा न होने पर अगवा कर उसकी हत्या कर देने की दुखद घटना का खुलासा हुआ. मृतक का नाम वरद पाटिल था, जो सात साल का एक बच्चा है। उसका दो दिन पहले सावरदे बुद्रुक (ताल कागल) से अपहरण कर लिया गया था। उनके पिता रवींद्र गणपति पाटिल ने मुरगुड पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। इसी के आधार पर पुलिस ने जांच पड़ताल कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपी ने किया अपराध कबूल

पुलिस ने आरोपी मारुति वैद्य (45) से पूछताछ की, जिसने खेत में ले जाकर बच्चे की हत्या करने की बात कबूल की। बच्चे का शव सावरदे गांव में झील से 200 मीटर दूर एक खेत में मिला. इस दौरान पंचकृशी के नागरिकों व महिलाओं ने आक्रोश जताया और पुलिस को घेर लिया. उन्होंने मांग की कि आरोपियों को एक सप्ताह के भीतर मौत की सजा दी जाए।

पुलिस ने बताया कि मंगलवार (17 अगस्त) की शाम करीब साढ़े सात बजे बच्चा लापता हो गया था। रात भर तलाश करने के बाद अगले दिन भी उसका कुछ पता नहीं चला। बच्चे के पिता की तहरीर पर पुलिस ने मामला दर्ज किया तो आरोपी दोस्त ही गुनहगार निकला। फिलहाल आरोपी को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है।

थाने पर ग्रामीणों का हंगामा

आरोपी मारुति वैद्य को फांसी की सजा की मांग को लेकर सोनाली गांव समेत पंचकृशी के नागरिकों ने आज (21 अगस्त) मुर्गुड थाने में धरना दिया. इस दौरान बड़ी संख्या में महिलाओं के साथ-साथ बच्चों मौजूद रहे। ग्रामीणों ने जमकर नारेबाजी भी की। इससे थाने के बाहर काफी देर तक तनाव बना रहा। पुलिस का कहना है कि शुरुआती जांच में ऐसा नहीं लग रहा था. पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवड़े ने कहा कि मामले की गहन जांच के बाद हत्या के कारणों का खुलासा किया जाएगा।

यह भी पढ़ें- बिजनौर: बैंक गार्ड की बन्दूक से अचानक चली गोली, 5 उपभोक्ता घायल

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: