Connect with us

Hi, what are you looking for?

क्राइम

गोरखपुर: नकली नहीं असली पुलिसकर्मियों ने ही की थी सर्राफा से लूट, पूरे थाने पर गिरी गाज

बस्ती: उस समाज की स्थिति क्या हो सकती है जहां रक्षक ही भक्षक बन जाएं। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं कि उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले से ऐसा सनसनीखेज मामला सामने आया है जिसे जानकर आपके पैरों तले की जमीन निकल जाएगी।

यूपी के गोरखपुर में वर्दीधारी ही लुटेरे बन गए। एसपी बस्ती ने गोरखपुर लूटकांड का बड़ा खुलासा करते हुए थानाध्यक्ष समेत 12 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया। इनमे से एक दारोगा और दो सिपाहियों को बर्खास्त किया गया तो वहीं 9 को लाइन हाजिर कर दिया गया। बता दें कि सर्राफा व्यापारी से पुलिस की वर्दी में लूट करने वाले आरोपियों की तलाश में लगी पुलिस ने जाँच के बाद खुलासा किया कि वह नकली नहीं असली पुलिसकर्मी थे, जिसके बाद ये बड़ा एक्शन लिया गया।

क्या है गोरखपुर लूटकांड मामला:

महराजगंज जिले में एक सराफा कारोबारी का भाई और एक कर्मचारी गहने खरीदने के लिए बस से लखनऊ जा रहे थे।

उनके सर्राफ के भाई के पास 11.10 लाख रुपये नकद और करीब पांच लाख रुपये का सोना था, वहीं एक दूर कारोबारी के कर्मचारी रामू के पास 6 लाख रुपये नकद व करीब 8 लाख रुपये सोना था। दोनों एक ही बैग में रुपये व सोना लेकर निकले थे।

दारोगा और दो सिपाहियों ने लूट लिया सोना और नगदी

जब वे गोरखपुर बस अड्डा पहुंचे तो एक वर्दीधारी दारोगा और दो सिपाहियों ने उन्हें पकड़ लिया और तस्करी का आरोप लगाते हुए उन्हें थाने न लेजाकर पूछताछ के बहाने बैठाकर नौसढ़ ले गए। वहां उनकी पिटाई की और गहने व रुपये से भरा बैग छीन लिया।

पुरानी बस्ती थाने के दारोगा और दो सिपाही सस्पेंड

लूट के बाद सर्राफा कारोबारियों ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। उन्हें लगा की नकली पुलिस ने वर्दी पहन उन्हें ठग लिया लेकिन कैंट पुलिस मामले में सक्रिय हो गयी और क्राइम ब्रांच व नौसढ़ चौकी प्रभारी संग बदमाशों की तलाश में जुट गए। इस दौरान पुलिस ने रेलवे बस स्‍टेशन, कार्मल रोड, नौसढ़ व सहजनवां में लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाल डालें। जिसके आधार पर पुलिस टीम बस्ती पहुंची। सर्विलांस की मदद से पुलिस ने बड़ा खुलासा किया।

थाना अध्यक्ष अवधेश दास सहित नौ पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

पता चला कि वारदात में जिस बोलेरो का इस्तेमाल किया गया था वह पुरानी बस्‍ती थाने की थी। टीम ने दारोगा धर्मेंद्र यादव और दो सिपाहियों (महेंद्र यादव और संतोष यादव) को दबोच लिया। तीनों की पहचान पीड़ित कारोबारी ने लुटेरों के तौर पर की। घटना के बाद बस्ती पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा ने पुरानी बस्ती थाना अध्यक्ष अवधेश दास सहित नौ पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया।

वहीं लूट के आरोपी पुरानी बस्ती थाने के एएसआई सहित दो सिपाहियों को तत्काल बर्खास्त करने की कार्रवाई करने का निर्देश दे दिया। वही लूट में लूट के 19 लाख नगद और लगभग 1500000 रुपए का सोना- चांदी बस्ती पुलिस ने बरामद कर गोरखपुर पुलिस को सौंप दिया।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: