Ghaziabad News: गर्भवती लिव-इन पार्टनर की हत्या, 7 माह बाद हुआ खुलासा

मृतक युवकी और आराेपी

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में एक लिव इन पार्टनर (Live-in-Partner) की हत्या का मामला सामने आया है। बड़ी बात ये है कि आरोपी 6 महीने तक चैन से रह रहा था, लेकिन अब इस मामले का खुलासा हो गया है। दरअसल आरोपी युवक अपनी पार्टनर के साथ रोज के झगड़ों से परेशान था। पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है। मृतक महिला की मां ने गाजियाबाद के इंदिरापुरम थाने (Indirapuram Police Station in Gaziabad) में शिकायत दर्ज कराई थी।

क्या है मामला, जानें

आरोपी ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि वह इसी साल 19 मई को अपनी लिव इन पार्टनर दिव्या को घुमाने के बहाने शिमला ले गया था और उसी दिन कुन्नौर जाने वाले रास्ते पर सुनसान इलाके में उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद उसने उसका शव जंगल में फेंक दिया। वहां से लौटकर आने के बाद रमन ने झूठी गुमशुदगी की रिपोर्ट इंदिरापुरम थाने में दर्ज करवा दी और फिर वह चैन से रहने लगा।

यह भी पढ़ें- नोएडा: झाड़ियों में पड़ी मिली नवजात बच्ची, भूख से बिलबिलाने पर थानेदार की पत्नी ने कराया स्तनपान

बता दें कि मृतक महिला की मां बिट्टो ने बताया कि दिव्या हर सप्ताह उनसे फोन पर बात करती थी लेकिन 17 मई के बाद उसका फोन नहीं आया। उसके बाद उसने आरोपी रमन से बात की और उसने झूठी कहानी बताई। फिर बिट्टो ने पाया कि रमन चैन से रह रहा था और उसे शक हुआ और केस दर्ज कराया। इसके बाद पुलिस ने इस मामले पर तेजी से काम किया, जिसमे रमन को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की गई तो उसने सारा राज उगल दिया।

डीसीपी ट्रांस हिंडन डॉ. दीक्षा शर्मा के बताया, “इंदिरापुरम थाना क्षेत्र के वसुंधरा इलाके में दिव्या (35) नाम की लड़की रमन के साथ वर्ष 2018 से लिव इन रिलेशनशिप में रह रही थी। वहीं रमन टीला मोड़ के पास मोटर गैराज चलाता है। दोनों की एक बेटी भी है। लेकिन लिव इन में रहने के दौरान रमन ने किसी अन्य महिला से शादी कर ली। यह बात जब दिव्या को पता चली तो दोनों के बीच अक्सर लड़ाई होनी लगी। रमन ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि रोज की लड़ाई से तंग आकर उसने दिव्या की हत्या की साजिश रची थी।” बता दें कि झारखण्ड में भी एक बर्बरता से की गई हत्या का मामला आया है।

शव बरामद हो चुका है

पुलिस ने बताया कि गाजियाबाद पुलिस ने शिमला स्थित थाना कुमारसेन पुलिस से संपर्क किया। इसके बाद वहां की पुलिस ने बताया कि 26 मई को दिव्या का शव बरामद किया गया था और उसके कपड़ों, फोटो व अन्य माध्यमों से उसकी सही पहचान हुई थी।