Connect with us

Hi, what are you looking for?

क्राइम

गाज़ियाबाद: प्रेमिका ने प्रेमी की हत्याकर शव को घर में ही दफनाया, बदबू आने पर जलाती थी अगरबत्ती

प्रेमी के प्रेमिका पर शादी का दबाव बनाने पर गांव के तीन युवकों के साथ मिलकर गला दबाकर प्रेमिका ने ही प्रेमी की हत्या की थी। हत्या को आत्महत्या का रूप देने की भी कोशिश थी। हिंडन नहर में शव को फेंकने की भी योजना थी। उससे पहले पुलिस ने पकड़ लिया।

खबर शेयर करें

Author: कपिल कुमार

पुलिस हिरासत में प्रेमिका आयशा व उसके साथी फोटो सोशल मीडिया

गाज़ियाबाद जिले के मोदीनगर थाना क्षेत्र के आठ दिन पूर्व मोदीनगर के खैराजपुर गांव में एक सप्ताह पूर्व हुई युवक मुरसलीम की हत्या का पुलिस ने चौकाने वाला खुलासा कर दिया है। पुलिस के अनुसार मुरसलीम की हत्या उसकी प्रेमिका और उसके तीन साथियों ने मिलकर की। पुलिस ने प्रेमिका समेत चारों को गिरफ्तार कर लिया है।

मृतक युवक का फाइल फोटो

पुलिसिया पूछताछ में प्रेमिका आयशा ने बताया कि उसके मुरसलीम के साथ करीब डेढ़ साल से प्रेम संबंध थे। आयशा की शादी उसके परिजनों ने कहीं और तय कर दी थी। जिसके बाद उसने मुरसलीम से मिलना छोड़ दिया। लेकिन वह आयशा शादी करने के लिए दबाव बना रहा था। इतना ही नहीं शादी करने से इनकार करने पर वह रिश्ता तुड़वाने की धमकी दे रहा था। उसकी धमकी से परेशान होकर आयशा ने गांव निवासी तीन युवकों के साथ मिलकर हत्या की योजना बनाई।

प्रेमिका ने इस गड्ढे में दबाया हुआ था अपने प्रेमी का शव

आपको बता दें कि 11 अगस्त को मोदीनगर के खैराजपुर गांव निवासी मुरसलीम लापता हुआ था। काफी खोजबीन करने के बाद भी जब युवक का पता नहीं चला तो परिजनों ने 15 अगस्त को थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। परिजनों ने युवक की प्रेमिका पर संदेह जताया। 17 अगस्त को प्रेमिका आयशा के घर की तलाशी के दौरान मुरसलीम का शव  सोफे के नीचे जमीन में दबा हुआ मिला।

आयशा ने योजना के अनुसार 11 अगस्त को  फोन करके मुरसलीम को अपने घर बुलाया। पहले उसके लिए खाना बनाया और घंटों बातें की। इसका मकसद युवक को दूसरे हत्यारोपी के आने तक बातों को भूल जाए रखना था शाम 5:00 बजे तीनों युवक आयशा के घर पहुँचे और मुरसलीम की गला दबाकर हत्या कर दी। उन्होंने हत्या को आत्महत्या का रूप देने के लिए शव को दुपट्टा का फंदा लगाकर लटकाया भी था।

आयशा ने बताया की जो कि सब कुछ गाने को युवक के शव को हिंडन नदी में फेंकने की योजना थी, लेकिन वह इस कार्य को अंजाम नहीं दे पाए तो उन्होंने मृतक युवक के शव को अपने सोफे के नीचे ही गड्ढा खोदकर उसमें दफना दिया। जब शव से बदबू आने लगी तो कमरे में अगरबत्ती जलाती थी। इस तरह सात दिन तक शव घर में दफन रहा।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: