Connect with us

Hi, what are you looking for?

क्राइम

गाज़ियाबाद: तहख़ाने में पिस्टल बनाते मुंगेर के 3 कारीगरों सहित 5 गिरफ्तार, हथियारों का जखीरा बरामद

एसएसपी ने बताया कि जहीरुद्दीन और उसका खेकड़ा निवासी दामाद खेकड़ा फैय्याज हथियारों की सप्लाई आसपास के जिलों और दिल्ली-एनसीआर में करते थे। वह एक पिस्टल को 25 से 40 हजार रुपये में बेचता था। अवैध हथियार किस-किस इलाके में सप्लाई किए गए, यह जहीरुद्दीन और फैय्याज की गिरफ्तारी के बाद पता चलेगा

खबर शेयर करें

Author: कपिल कुमार

सभी फोटो: सौजन्य सोशल मीडिया

गाज़ियाबाद: मुरादनगर पुलिस ने एक मकान में छापेमारी के दौरान तहख़ाने के अंदर एक और तहखाना बनाकर हथियारों की फैक्टरी चलती मिली। पुलिस ने मौके से बने-अधबने औजारों के अलावा डेढ़ लाख रुपये बरामद हुए हैं। पुलिस ने मौके से फैक्टरी संचालक की पत्नी व भतीजे समेत मुंगेर (बिहार) के तीन कारीगरों को गिरफ्तार कर लिया। गाज़ियाबाद एसएसपी ने फैक्टरी पकड़ने वाली टीम को 25 हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की है।

पुलिस गिरफ्त में आरोपी

गाज़ियाबाद एसएसपी पवन कुमार ने बताया कि मुरादनगर में शहजादपुर की पुलिया के पास जहीरुद्दीन के मकान में अवैध कार्य होने की सूचना मिली थी। सूचना पर एसपी ग्रामीण डॉ. ईरज राजा ने टीम भेजकर उस मकान में छापा डलवाया तो वहां एक तहखाना मिला। उस तहखाने में कुछ नहीं मिला लेकिन तहखाने के अंदर से एक सुरंग नुमा रास्ता दिखाई दिया। उसके जरिये पुलिस आगे बढ़ी तो वहां एक और तहखाना मिला, जहां अवैध हथियार बन रहे थे।

पुलिस ने मौके से जहीरुद्दीन की पत्नी असगरी व भतीजा सलमान निवासी सराय वहलीम थाना कोतवाली मेरठ के अलावा मुंगेर बिहार निवासी मोहम्मद मुस्तफा उफआ मुसरा, मोहम्मद सालम, मोहम्मद कैफी आलम उर्फ आसिफ को गिरफ्तार कर लिया, जबकि फैक्टरी संचालक जहीरुद्दीन व उसका दामाद फैय्याज निवासी खेकड़ा फरार हो गए। जहीरुद्दीन हथियारों का बड़ा सौदागर है। शुरूआत में वह मुंगेर बिहार से हथियारों की तस्करी करता था, लेकिन मोटा मुनाफा कमाने के लिए उसने खुद की फैक्टरी लगा ली।

बताया गया कि मेरठ पुलिस भी पूर्व में  जहीरुद्दीन की हथियारों की फैक्टरी पकड़ चुकी है। नौचंदी पुलिस ने उस पर 25 हजार का इनाम भी घोषित किया था। मेरठ पुलिस से बचने के लिए जहीरुद्दीन जून में हाईकोर्ट जाकर गिरफ्तारी पर स्टे ले आया था। मेरठ पुलिस को स्टे ऑर्डर दिखाकर उसने मुरादनगर में हथियारों की दूसरी फैक्टरी संचालित कर ली। वह 10-10 दिन के लिए मुंगेर के कारीगरों को फैक्टरी में बुलाकर हथियार बनवाता था। मुंगेर के तीनों आरोपी हथियार बनाने के माहिर हैं।

यह समान हुआ बरामद

एसपी ग्रामीण ने बताया कि अवैध हथियारों की फैक्टरी में 5 पिस्टल, 77 कारतूस, 20 अधबने पिस्टल, 55 बैरल, 1 स्लाइड, 13 मैगजीन, हथियार बनाने के औजार, गैस चूल्हा, सिलिंडर, दो बैटरे, इनवर्टर आदि सामान बरामद हुए हैं।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: