मेरठ में छेड़खानी का विरोध करने पर बुजुर्ग को पीट-पीटकर हत्या‚ आरोपी गिरफ्तार

मृतक

Meerut Crime:  मेरठ में महिलाओं से छेड़खानी का विरोध करने दबंगों ने एक बुजुर्ग व्यक्ति को लात और घूंसों से पीटा। परिजन उसे घायल हालत में इलाज के लिए अस्पताल ले जा रहे थे। तभी रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने 4 आरोपियों को हिरासत में लिया है। मामला मेरठ के लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र का है।

चक्की के सामने रिक्शा लगाने पर हुआ विवाद

अहमद नगर गली नंबर 16 में यहां याकूब लियाकत (60) अपने परिवार के साथ रहते थे। याकूब की घर के बाहर ही चक्की है। उसके पास ही अहमद नगर के रहने वाले असर, कमर और मजहर तीन भाइयों का कपड़े का गोदाम है। शनिवार को गोदाम में रखने के लिए कपड़े के थान ई-रिक्शा में आए थे। तीनों भाइयों ने मिलकर ई-रिक्शा बुजुर्ग याकूब की चक्की के सामने लगवा दिया। याकूब ने इस बात का विरोध किया। उसने कहा कि ई-रिक्शा चक्की के सामने से हटाकर कहीं ओर लगवा दें। ये बात तीनों भाइयों को नागवार गुजरी। वे बुजुर्ग से गाली-गलौज करने लगे।

महिलाओं से छेड़खानी का विरोध करने पर मार डाला
बुजुर्ग ने इस बात का विरोध किया तो तीनों भाइयों ने मिलकर बुजुर्ग से हाथापाई शुरू कर दी। शोर सुनकर याकूब के घर की महिलाएं बीच-बचाव के लिए घर के बाहर आ गईं। उन्होंने कमर, असर, मजहर को रोका। उनसे कहा कि चक्की के सामने से रिक्शा हटा लें और ससुर को छोड़ दें। तभी तीनों भाइयों ने मिलकर महिलाओं के साथ छेड़खानी शुरू कर दी।

याकूब ने इसका विरोध किया। जिसके बाद तीनों भाइयों ने मिलकर बुजुर्ग को पीटना शुरू कर दिया। सड़क पर गिराकर लात, घूंसों से पिटाई की। हालात बिगड़ते देख पड़ोसी वहां एकजुट हो गए। किसी तरह याकूब को तीनों भाइयों से छुड़वाया। लेकिन बुजुर्ग की तब तक तबीयत काफी बिगड़ चुकी थी। उसके शरीर से खून बह रहा था।

अस्पताल जाते वक्त रास्ते में मौत
परिवारवाले तुरंत बुजुर्ग को मेडविन अस्पताल में लेकर गए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। याकूब के 5 बेटे आसिम, अकरम, असलम, आसिफ और आरिफ हैं। लेकिन जिस वक्त यह घटनाक्रम हुआ उस वक्त याकूब का कोई बेटा घर पर नहीं था। घर में केवल महिलाएं थी। पांचों बेटे काम पर बाहर गए थे। सूचना पर तुरंत पांचों बेटे अस्पताल पहुंचे। पुलिस ने चार लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।

इस मामले में इंस्पेक्टर लिसाड़ी गेट कुलदीप सिंह का कहना है कि मामला संज्ञान में है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी!