Connect with us

Hi, what are you looking for?

क्राइम

बिना जांच किए ही देते थे कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट, 2 लैब टेक्नीशियन गिरफ्तार

मरीजों से मोटी रकम वसूल कर बेच रहे थे कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट

खबर शेयर करें

कोरोनावायरस प्रभावित राज्यों की लिस्ट में नंबर वन चल रहे महाराष्ट्र से एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है. यहां पुलिस ने कोरोना जांच के नाम पर चल रहे बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा करते हुए दो लैब टेक्नीशियन ओं को गिरफ्तार किया है.

गिरफ्तार किए गए इन दोनों लैब टेक्नीशियनो पर RT-PCR टेस्ट के नाम पर लोगों को ठगने का आरोप है. पुलिस ने बताया कि सागर अशोक हांडे (25) और दयानंद भीमराव खराते (21) के खिलाफ FIR दर्ज की गई है. बताया जा रहा है कि दोनों आरोपी बिना जांच किए ही लोगों को RT-PCR टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट बेच रहे थे.

मरीजों से करते थे सीधा संपर्क

पुलिस ने बताया कि दोनों आरोपी लैब पर आने वाले मरीजों से घर जाकर सीधा संपर्क करते थे और उन्हें रिपोर्ट जल्दी देने का वादा करते थे. पुलिस ने एक शिकायत के आधार पर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

ये भी पढ़ें- दवाई नही.. गेम खेलने से जल्दी ठीक हो रहे हैं कोरोना पॉजिटिव मरीज‚ डॉक्टर भी हैरान

आपको बता दें कि कोविड महामारी प्रोटोकॉल के मुताबिक किसी राज्य या शहर जाने के लिए लोगों को पहले RT-PCR टेस्ट रिपोर्ट दिखानी होती है. ऐसे में अगर किसी शख्स को जल्दबाजी होती थी तो ये दोनों उनके घर जाकर स्वैब ले लेते थे और बिना जांच किए ही रिपोर्ट दे देते थे.   

ऐसे हुआ फर्जीवाड़े का खुलासा

दरअसल एक कस्टमर ने बताया कि उन्हें गंभीर कोविड के लक्षण थे, लेकिन उन्हें निगेटिव रिपोर्ट थमा दी गई. जिसके बाद शख्स ने लैब के लैंडलाइन नंबर पर सीधे कॉन्टेक्ट किया. जिसके बाद इस फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ. डेक्कन पुलिस दोनों आरोपियों को क्रिमिनल कोर्ट में ले जाएगी और इनकी रिमांड मांगेगी. पुलिस को आशंका है कि इस रैकेट में और लोग भी शामिल हो सकते हैं.  

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement