भैंस चोरी करने वाले गिरोह का भांड़ाफोड़‚ साबुन फैक्ट्री में बेच देते थे मीट से निकली चर्बी

पकड़े गए आरोपी

बुलंदशहर। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के थाना नगर कोतवाली पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। भैंस चोरी करने वाले और अवैध रूप से पशुओं को मारने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों के पास से 9 भैंस, 8 कटरे, 8 कटिया, 27 टिन चर्बी, 9 बोरे सुखी चर्बी, भारी मात्रा में भैंसों की खाल और वध पशुओं के अवशेष व अन्य उपकरण बरामद की गई है।

बताया जा रहा है कि इस गिरोह के सदस्य विभिन्न थानों क्षेत्रों में कोहरे का फायदा उठाकर मवेशियों की चोरी करने के के बाद काट दिया करते थे।  यह लोग जानवरों के मांस और अवशेषों के निपटान के लिए होटल, रेस्तरां और ढाबों में आपूर्ति करते थे, जबकि चर्बी साबुन कारखानों को आपूर्ति की जाती थी। पुलिस को इस पूरे मामले की जानकारी तब हुई जब  मजिस्ट्रेट की एक टीम ने साबुन फैक्ट्री को भी तुरंत सील कर दिया था।

साबुन फैक्ट्री के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है
दरअसल, रैपर पर शुद्ध तेल से बना साबुन लिखा होता है, लेकिन यहां फैट का इस्तेमाल किया गया था। चर्बी के इस्तेमाल से कहीं न कहीं लोगों की भावनाएं आहत हो रही थीं. उसके बाद साबुन फैक्ट्री के मालिक के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 467, 468, 471 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

घर में करते थे अवैध कटान
एएसपी अनुकृति शर्मा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी आरिफ पर 14 मुकदमे दर्ज हैं और वह शातिर चोर है. आरिफ मवेशी चोरी करने के बाद अवैध रूप से घर में ही उनका वध कर देता था। पुलिस को इसकी सूचना मिली और उसने तुरंत कार्रवाई करते हुए इस गिरोह का पर्दाफाश किया. एक दर्जन से अधिक जीवित पशुओं को जब्त किया गया है। भारी मात्रा में पशु अवशेष भी बरामद हुए हैं। साबुन फैक्ट्री में जानवरों की चर्बी का इस्तेमाल किया गया था, जिसके बाद फैक्ट्री को तुरंत सील कर दिया गया था. पुलिस की छापेमारी लगातार जारी है।