Connect with us

Hi, what are you looking for?

क्राइम

Andra Pradesh: मासूम बच्चे को मारते लहूलुहान करने वाली महिला गिरफ्तार‚ Video वायरल होने पर पुलिस ने लिया एक्शन

तुलसी और वदिवाझगन में किसी बात को लेकर अनबन थी. दोनों के बीच अनबन इतनी बढ़ी कि वदिवाझगन ने तुलसी को उसके मायके सिंधुर छोड़ आया. इस समय तुलसी अपने माता-पिता के साथ ही रहती है. इस बीच तुलसी के फोन से उसके रिश्तेदारों को एक वीडियो हाथ लग गया, जिसमें वह अपने बेटे को बुरी तरह पीट रही है.

खबर शेयर करें

Andra Pradesh news: मां का दिल ऐसा होता है कि अगर बच्चे को जरा खरोंच भी आ जाए तो उसका दिल दहल जाता है। लेकिन सोशल मीडिया पर एक ऐसा वीडियो वायरल हुआ है जिसमें मां के नाम पर कलंक एक महिला अपने दो साल के मासूम बच्चे को बुरी तरह से मार रही है। महिला बच्चे के मुंह पर अपने हाथों से जाेरदार कई परहार करती है जिससे बच्चे के मुंह से खून निकलने लगता है। मामला सामने आने के बाद आरोपी महिला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

दरअसल, आंध्र प्रदेश के सिंधुर की एक महिला तुलसी ने 2016 में विल्लुपुरम जिले के गिंगी के वदिवाझगन से शादी की. वादिवाझगन पिछले तीन सालों से चेन्नई से काम कर रहा था, जबकि तुलसी 2019 में जिंजी जिले के मेट्टूर में बस गई थी. दंपति के दो लड़के हैं- प्रदीप (दो साल) और गोकुल (चार साल)

बताया जा राह है कि तुलसी और वदिवाझगन में किसी बात को लेकर अनबन थी. दोनों के बीच अनबन इतनी बढ़ी कि वदिवाझगन ने तुलसी को उसके मायके सिंधुर छोड़ आया. इस समय तुलसी अपने माता-पिता के साथ ही रहती है. इस बीच तुलसी के फोन से उसके रिश्तेदारों को एक वीडियो हाथ लग गया, जिसमें वह अपने बेटे को बुरी तरह पीट रही है.

तुलसी के रिश्तेदारों ने वदिवाझगन को इस चौंकाने वाले वीडियो की जानकारी दी. वीडियो दिल दहला देने वाला था, क्योंकि तुलसी अपने दो साल के बच्चे के रोने पर उसे बेरहमी से पीटते हुए दिखाई दे रही है. उसके वार इतने तेज थे कि बच्चे के नाक और मुंह से खून बहने लगा.

चेतावनीǃ वीडियो आपको विचलित कर सकती है।

इससे भी अधिक चौंकाने वाली बात यह है कि तुलसी कई मौकों पर अपने बच्चे को मार रही थी और इसे अपने मोबाइल पर रिकॉर्ड कर रही थी. एक अन्य वीडियो में तुलसी बच्चे के पैर को अपनी मुट्ठी से मारती हुई दिखाई दे रही थी और एक अन्य में उसने अपने बच्चे की पीठ दिखाई, जिसमें क्रूर पिटाई के कारण लाल धब्बे थे.

घबराए हुए वदिवाझगन और उसके रिश्तेदार तुरंत आंध्र प्रदेश गए और बच्चों को विल्लुपुरम ले आए. बच्चे के दादा गोपालकृष्णन ने कहा कि उन्हें दुर्व्यवहार के बारे में पता नहीं था, लेकिन तुलसी के बारे में पता था कि एक महीने पहले तुलसी अपने बच्चे को इलाज के लिए पुडुचेरी के जेआईपीएमईआर अस्पताल ले जा रही थी.

वीडियो वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर तुलसी के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की मांग की है. वीडियो वायरल होने के बाद तुलसी को गिरफ्तार कर लिया गया है. तमिलनाडु से पुलिस की एक विशेष टीम चित्तूर पहुंची और चित्तूर जिले के सोमाला मंडल के अंतर्गत रामपल्ले गांव में आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया.

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: