Connect with us

Hi, what are you looking for?

क्राइम

छत्तीसगढ़: 24 जवानों की शहादत में 25 लाख का इनामी नक्सली कमांडर ‘हिड़मा’ का हाथ

शनिवार को सुकमा और बीजापुर की सीमा पर जंगल में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ में 24 सैनिक शहीद हो गए। वहीं, 31 घायल सैनिक अस्पताल में भर्ती हैं। जबकि कई और जवान लापता बताए जा रहे हैं। इस हमले में 25 लाख का नक्सली कमांडर हिडमा का हाथ बताया जाता है, जिसने इस हमले की पूरी साजिश रची है। नक्सली मुठभेड़ के दौरान आरोपी लगभग 250 नक्सलियों का नेतृत्व कर रहा था। आइए जानते हैं कौन है ये कुख्यात नक्सली कमांडर हिडमा …

हिडमा को कई नामों से जाना जाता है

दरअसल, इस नक्सली कमांडर का पूरा नाम मदवी हिडमा है। उन्हें कई अन्य नामों से भी जाना जाता है, जैसे संतोष उर्फ इंडमुल उर्फ पोडियम भीमा। यह पिछले 13 वर्षों में कई हमलों में शामिल रहा है और निर्मम हत्याओं के लिए कुख्यात है। पुलिस-बल ने उसे पकड़ने के लिए 25 लाख के इनाम की घोषणा की है। इसका नाम छत्तीसगढ़ के नक्सलियों में शीर्ष नक्सली कमांडर में आता है।

उसकी टीम आधुनिक हथियारों से लैस

हिडमा का सुकमा और बीजापुर गढ़ हैं, यहां होने वाली सभी नक्सली गतिविधियों में उसका हाथ है। इस क्षेत्र में हुए सभी नक्सली हमलों में हिडमा की भूमिका रहती है। वह छिपने के लिए कभी-कभी छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में शरण लेता है। उसके पास सभी तरह के आधुनिक हथियार हैं।  उनकी टीम के पास यूबीजीएल, रॉकेट लॉन्चर, एके 47 जैसे हथियार हैं।

20 साल से नही खुला स्कूल

हिडमा का जन्म सुकमा जिले के पुरवर्ती गाँव में हुआ था, यह गाँव दुर्गम पहाड़ियों और घने जंगलों के बीच स्थित है। इस गाँव तक पहुँचने के लिए पुलिस कई सालों से कोशिश कर रही है, लेकिन अभी तक नहीं पहुँच पाई है। कहा जाता है कि हिडमा गाँव में लगभग 20 वर्षों से कोई स्कूल नहीं खुला है। कोई भी शिक्षक यहां नहीं आना चाहता, हिडमा आसपास के इलाकों में रहता है। यहां केवल उनकी सरकार या सरकार संचालित होती है।

केवल दसवीं तक पढ़ा लेकिन धाराप्रवाह अंग्रेजी बोलता है

हिड़मा की उम्र लगभग 40 वर्ष बताई जाती है। उनके बारे में कहा जाता है कि उसे ऐसे समय में लाया गया था जब नक्सलवाद इस क्षेत्र में अपने चरम पर था और माओवादियों द्वारा चलाया जाता था। हिडमा ने केवल दसवीं कक्षा तक पढ़ाई की है, लेकिन वह धाराप्रवाह अंग्रेजी भी बोलता है।  वह स्मार्ट फोन भी इस्तेमाल करता है। कहा जाता है कि वह अपने साथ एक नोट बुक लेकर चलता है। जिसमें उसने अपना पूरा शेड्यूल नोट करके रखता है।

पिछले साल मार्च के महीने में भी हिडमा ने सुकमा में नक्सली हमले में 17 सैनिकों की हत्या कर दी थी। अप्रैल 2019 में भाजपा विधायक भीमा मदवी, उनके ड्राइवर और तीन सुरक्षाकर्मियों की नक्सलियों ने हत्या कर दी थी।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: