Bihar: सारण के बाद अब सीवान जनपद में जहरीली शराब पीने से चौकीदार समेत 5 की मौत‚ CM नीतीश ने कहा नही देंगे मुआवजा

Bihar Hooch Tragedy: बिहार में जहरीली शराब पीकर मरने वालों का सिलसिला लगातार जारी है। सारण जिले के बाद अब सिवान में भी 5 लोगों की जहरीली शराब पीने से मौत हो गई है। मरने वालों में थाने का चौकीदार भी शामिल है।  मृतकों में एक महिला भी शामिल है। पुलिस आरोपियों की तलाश का नाटक कर रही है।

बिहार सीएम नीतीश कुमाJर

मिली जानकारी के अनुसार मरने वाले सभी लोग ब्रह्मस्थान के आसपास के रहने वाले हैं। जो सभी एक ही समय एक हे है। बताया जा रहा है कि सभी लोग एक जगह पर बैठकर शराब पी रहे थे। कुछ समय बाद ही एक एक करके सबकी मौत हो गई। ग्रामीणों का कहना है कि इतनी मौत होने के बाद भी बिहार में खुलेआम शराब मिल रही है।

हैरानी की बात यह है कि सारण जनपद में इतनी बड़ी घटना के बाद इन लोगों को आसानी से जहरीली शराब मिली थी। मृतकों के परिजनो ने बताया कि शराब पीने के बाद ही सभी लोगों की पहले आंखों की रोशनी गई, फिर पेट दर्द के बाद मौत हो गई। किसी को कोई इलाज नहीं मिल सका।

सीएम ने कहा नही मिलेगा मुआवजा

इस मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्पष्ट कर दिया है कि शराब पीकर मरने वालों को किसी भी प्रकार का सरकारी मुआवजा नहीं दिया जाएगा।  नीतीश कुमार ने विपक्ष के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि शराब से मौत पर कोई मुआवजा नहीं मिलेगा। नीतीश ने कहा कि शराब पीकर मृत्यु पर हम उसे सहायता राशि देंगे यह सवाल ही पैदा नहीं होता है।

आपको बता दें कि  मुख्यमंत्री इससे पहले भी शराब से मरने वालों के लिए अपशब्द बोल चुके हैं।  उन्होंने कहा था कि जो पिएगा वो तो मरेगा ही। सीएम ने यह भी कहा था कि बिहार में शराब के सेवन पर रोक लगी है।  लोगों को समझने की जरूरत है।  मुख्यमंत्री ने कहा है कि जो गड़बड़ कर रहा है उसे पकड़ा जाएगा। उन्होने यह भी कहा कि हम तो बापू और बिहार की महिलाओं की इच्छा से शराब बंदी लागू किए हैं।