Connect with us

Hi, what are you looking for?

बड़ी खबर

यूपी: अलीगढ़ में दलित किशोरी की जंगल मे हत्या के मामले में अंतिम संस्कार से पहले जमकर हंगामा

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के अकराबाद थाना क्षेत्र में 16 वर्षीय दलित किशोरी की हत्या के मामले में दिन भर हंगामा होता रहा।  हालांकि, रिश्तेदारों की सहमति से, पुलिस ने अंतिम संस्कार किया। सोमवार शाम अलीगढ़ के एसएसपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मामले की जानकारी दी।

एसएसपी मुनिराज ने कहा कि पोस्टमार्टम में यह खुलासा हुआ है कि दलित किशोरी की हत्या की गई और उसका बलात्कार करने के प्रयास में गला घोंटकर हत्या की गई। लड़की की गर्दन पर चोट के निशान थे।  मुंह पर खरोंच के निशान भी हैं, लाश को खींचने के कारण हाथ और पैर पर खरोंच के निशान हैं। उन्होंने कहा कि शरीर पर कई जगहों पर नाखून के निशान पाए गए हैं। आंतरिक भाग पर कोई निशान नहीं पाये जाने के कारण रेप की पुष्टि नहीं हुई है। हालांकि, सीमेन की जांच के लिए एक स्लाइड फोरेंसिक लैब भेजा जा रहा है।

एसएसपी मुनिराज ने मीडिया के सामने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बारे में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आंतरिक हिस्से पर कोई चोट नहीं हैं। माइक्रो स्कोपी जांच में स्वाब का और परीक्षण किया जा रहा है। इसकी अंतिम रिपोर्ट आने के बाद शेष जानकारी साझा की जाएगी। डॉक्टरों के पैनल ने अभी तक बलात्कार की पुष्टि नहीं की है। उन्होंने कहा कि लड़की की मां, बुआ और वकील की उपस्थिति में पोस्टमार्टम किया गया।

गौरतलब है कि थाना अकराबाद इलाके के एक गाँव में अपने नाना के यहाँ रहने वाली 16 वर्षीय दलित किशोरी की हत्या कर उसे एक गेहूँ के खेत में फेंक दिया गया था।  घटना को रविवार दोपहर को अंजाम दिया गया जब वह चारा लेने के लिए अपने खेत में गई थी। देर शाम उसका शव मिलने से ग्रामीण आक्रोशित हो गए। इस दौरान, ग्रामीणों ने पुलिस वाहनों के सामने आग जलाकर प्रदर्शन किया और ईंट और पत्थर भी फेंके।  ग्रामीणों के काफी समझाने के बाद पुलिस रात करीब 10:30 बजे शव को पोस्टमॉर्टम के लिए ले जा पाई।

यूपी में फिर दरिंदगी:  अब अलीगढ़ में नाबालिग का शव खेत में मिला, दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका

पोस्टमार्टम हाउस में परिजनों की मौजूदगी में पंचनामा भरने के बाद पोस्टमार्टम किया गया। इसके बाद पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों के नेतृत्व में पुलिस बल के साथ सुरक्षा घेरा के तहत किशोरी के शव को सासनी गेट इलाके में जयगंज के पैतृक घर भेजा गया। बड़ी संख्या में पुलिस अधिकारियों के नेतृत्व में एक पैतृक घर से एक दलित किशोरी का शव, पुलिस बल के साथ, सुरक्षा घेरा में काली दाह श्मशान के लिए रवाना हुआ। इसी बीच आगरा रोड केपी स्कूल के सामने सड़क पर रखकर शव को जाम कर दिया गया।

पुलिस काफी मशक्कत के बाद भी अंतिम संस्कार के लिऐ शव को आगे नहीं बढ़ा सकी। भीम आर्मी के युवको ने नारेबाजी करते हुए सड़क जाम कर दी। महिलाएं भी जाम में शामिल हो गई हैं। इस दौरान आगरा रोड पर लाश को लेकर तनातनी भी हुई।  ऐसा होते ही पुलिस श्मशान पहुंच गई।  पुलिस का रवैया देखकर युवकों में भगदड़ मच गई।  बताया जा रहा है कि पुलिस को अंबेडकर पार्क में लाठी फटकारनी पड़ी। लड़की की बुआ के कहने पर लोग शांत हुए। इसके बाद अंतिम संस्कार किया गया। हालांकि इस मामले में अभी कोई गिरफ्तारी नही हुईं है।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement