Connect with us

Hi, what are you looking for?

Accident/ हादसा

UP: चेतावनी के बावजूद जंगल में लकड़ी लेने गए किसान को बाघिन ने बनाया निवाला

लखीमपुर: यूपी के लखीमपुर खीरी जिले के दुधवा टाइगर रिजर्व (DTR) के बफर वन क्षेत्र के में एक बाघिन [tigress] ने 42 वर्षीय व्यक्ति को अपना निवाला बना लिया। सिंगाही के जंगलों में बाघ के हमले [tiger attack] में यह चौथी मानव मौत [death] है। वन अधिकारियों को आशंका है कि दो शावकों के साथ एक बाघिन ने मृतक प्रीतम को अपना शिकार बनाया है। घटना वक्त प्रीतम मंगलवार दोपहर तीन अन्य लोगों के साथ जलाऊ लकड़ी इकट्ठा करने के लिए जंगल में गया था। जहां बाघिन ने उसे अपना शिकार बनाया।

दुधवा (बफर) के प्रभागीय वनाधिकारी [Forest officials] अनिल पटेल ने कहा, “हमारी चेतावनी के बावजूद, स्थानीय लोगों ने जंगल में प्रवेश किया और उनमें से एक को बाघिन को मार डाला। उन्होने ये भी बताया कि एक बाघिन इस क्षेत्र में अपने 2 शावकों के साथ रह रही है। उन्होने कहा कि बाघिन अपने शावकों की सुरक्षा को लेकर लोगों पर आक्रामक है। इससे पहले वन विभाग ने इस क्षेत्र में बाघ के हमलों में तीन लोगों के मारे जाने के बाद क्षेत्र में कैमरा लगाए थे। कैमरों के आधार पर ही पता चला कि दो शावकों के साथ एक बाघिन क्षेत्र में विचरण कर रही है।

तब से ही ग्रामीणों को जंगल में प्रवेश नहीं करने की चेतावनी दी गई थी। लेकिन लोगों ने उसे नजरअंदाज किया। मृतक प्रीतम सीमांत किसान था जो खमरिया गाँव का रहने वाला था और वन क्षेत्र के में लकड़ियों लेने गया था तभी झाड़ियों के बीच एक बाघिन ने अचानक उस पर झपट्टा मारा और उसे जंगल के अंदर खींच लिया। वन क्षेत्र के कर्मचारियों को जंगल के बाहर कोई बाघिन के पगमार्क नहीं मिले। हालांकि, वन क्षेत्र में एक स्थान पर, उन्होंने पगमार्क और खून के थक्कों के निशान मिले। जिससे पता चला कि हमला वहां हुआ था।

पिछले साल अक्टूबर में भी ज्ञान सिंह नाम के एक किसान को एक बाघ ने मार डाला था और उसके अवशेष तीन दिन बाद वन क्षेत्र में बरामद किए गए थे। तब बमुश्किल चार दिन बाद वन क्षेत्र के अंदर चरने के लिए अपने मवेशियों को ले जाने वाले 60 वर्षीय किसान का अधखाया शव बरामद किया गया था। उसी महीने, वन क्षेत्र के पास मवेशियों को चराने वाले 34 वर्षीय अवधेश यादव की मौत भी बाघ के हमले से हुई थी।

खबर शेयर करें
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Copyright ©2020- Aankhon Dekhi News Digital media Limited. ताजा खबरों के लिए लोगो पर क्लिक करके पेज काे रिफ्रेश करें और सब्सक्राइब करें।

%d bloggers like this: